क्या इंदिरा गांधी की मौत पर राजीव-राहुल ने पढ़ा था कलमा...जानिए वायरल तस्वीर का पूरा सच...

सोमवार, 4 फ़रवरी 2019 (13:20 IST)
अक्सर विरोधी राजनीतिक दल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के हिंदू होने पर सवाल खड़े करते आए हैं। अब एक तस्वीर के जरिए उनको निशाना बनाया जा रहा है, जो इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है। इस तस्वीर में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी और राहुल गांधी किसी की अंतिम यात्रा में कलमा पढ़ते नजर आ रहे हैं। लोग दावा कर रहे हैं कि ये पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की अंतिम यात्रा है।

क्या है वायरल तस्वीर में?

वायरल तस्वीर में राजीव गांधी और राहुल गांधी कलमा पढ़ते नजर आ रहे हैं। इस तस्वीर में पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव, सोनिया गांधी और पी चिदंबरम भी दिख रहे हैं। इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा गया है- ‘इन्दिरा की लाश के सामने राहुल और राजीव गांधी कलमा पढ रहे हैं फिर भी हमारे देश के लोगों को लगता है कि ये लोग ब्राह्मण हैं’।



क्या है वायरल तस्वीर की सच्चाई?

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए जब हमने गूगल रिवर्स इमेज सर्च की मदद ली, तो हमें पाकिस्तान के उत्तरी वजीरिस्तान के विधायक और पेशावर हाईकोर्ट के वकील मोहसिन दावर का एक ट्वीट मिला, जिसमें उन्होंने इस तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा था- ‘बच्चा खान की अंतिम यात्रा में राजीव गांधी, सोनिया गांधी और नरसिम्हा राव’।

Rajeev Gandhi, Sonia Gandhi and Narsihma Rao at Bacha Khan's funeral
Pic from #BachakhanAwKhudaiKhidmatgari vol 2 pic.twitter.com/rUxOXyaJXS

— Mohsin Dawar (@mjdawar) January 26, 2016


फिर हमने इंदिरा गांधी के अंतिम संस्कार की तस्वीरें इंटरनेट पर सर्च कीं, तो हमें Getty Images पर ये तस्वीरें मिलीं।

अब यह स्पष्ट हो चुका है कि सोशल मीडिया पर राहुल और राजीव गांधी की तस्वीर को जिस दावे के साथ शेयर किया जा रहा है, वो झूठा है। वायरल तस्वीर 30 साल पुरानी बच्चा खान यानी खान अब्दुल गफ्फार खान के जनाजे की है, लेकिन इसे इंदिरा गांधी के अंतिम संस्कार की तस्वीर बताई जा रही है।

आइए अब जानते हैं कि अब्दुल गफ्फार खान उर्फ बच्चा खान कौन हैं...

अब्दुल गफ्फार खान का जन्म पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। उन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया था। गांधी जी के कट्टर अनुयायी होने के कारण उनका नाम ‘सीमांत गांधी’ पड़ा। उन्हें बच्चा खान, फ्रंटियर गांधी के नाम से भी जाना जाता है। 1988 में पाकिस्तान सरकार ने उनको पेशावर स्थित घर में नजरबंद कर दिया था और उसी दौरान 20 जनवरी, 1988 को उनका निधन हो गया था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख चोटिल गुप्टिल भारत के खिलाफ टी-20 श्रृंखला से बाहर