क्या सऊदी अरब में पीएम मोदी के खिलाफ हुआ प्रदर्शन...जानिए सच...

बुधवार, 25 सितम्बर 2019 (13:27 IST)
सोशल मीडिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जुड़ी एक पोस्ट काफी समय से वायरल हो रही है। दावा किया जा रहा है कि सऊदी अरब के लोगों ने भारत के मुस्लिमों के साथ हो रहे अत्याचार और तीन तलाक खत्म करने के विरोध में जूते-चप्पल दिखाकर पीएम मोदी के खिलाफ प्रदर्शन किया। वायरल तस्वीर में सऊदी पारंपरिक पोशाक पहने कुछ लोगों को हाथ में चप्पल लिए प्रदर्शन करते देखा जा सकता है। तस्वीर में पोस्टर्स पर पीएम मोदी की तस्वीर भी देखी जा सकती है।

क्या है वायरल पोस्ट-

फेसबुक यूजर ‘रुबी खातुन’ ने 25 फरवरी 2018 को तस्वीर शेयर कर लिखा था- ‘सऊदी अरब में मोदी के खिलाफ जूते चप्पल के साथ सड़कों पर उतरे लोग हिंदुस्तान के मुस्लिमों के साथ हो रहे अत्त्याचार ओर 3 तलाक़ के बहाने शरीयत के साथ छेड़छाड़ की कोशिश के विरोध में मोदी के पोस्टर को दिखाए जूते चप्पल’।



इस पोस्ट को लोगों ने फिर से शेयर करना शुरू कर दिया है। इस पोस्ट को अब तक 13 हजार बार शेयर किया जा चुका है।

क्या है सच-

जब हमने वायरल तस्वीर को गूगल रिवर्स ‍इमेज सर्च किया, तो हमें ओरिजिनल तस्वीर मिल ही गई, जिसके बारे में कई यूजर्स ने वायरल पोस्ट पर कमेंट कर बताया भी था।

الكويت اللي عاش فيها أفضل الأدباء والسياسيين والصحفيين والمطربين والممثلين ومعلقين
ثقافتنا تصير نعل وجواتي وتفال ، حسافه عليچ يا كويت pic.twitter.com/UBAsrxwsRO

— العميد بو أحمدبحروه (@hbahroh) December 17, 2016


कई ट्विटर यूजर्स ने इस ओरिजिनल तस्वीर को दिसंबर 2016 में ट्वीट किया था, जिसमें पोस्टर में पीएम मोदी नहीं रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की तस्वीर थी। इस विरोध प्रदर्शन की तस्वीर ​सीरिया की न्यूज वेबसाइटों Enabbaladi और Al Etihad Press पर देखी जा सकती है।

न्यूज रिपोर्टों के मुताबिक, ये तस्वीर 2016 की है जब कुवैत के कई सांसदों ने कुवैत में रूसी दूतावास के सामने अलेप्पो शहर के समर्थन में धरना दिया था। जहां मॉस्को सीरियाई सुरक्षा बलों की मदद कर रहा है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया कि वायरल हो रही तस्वीर को फोटोशॉप की मदद से बनाया गया है। पीएम मोदी का सउदी अरब में कोई विरोध नहीं हुआ। असली तस्वीर रूस के राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ प्रदर्शन की है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख गिरावट के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्‍स और निफ्टी लुढ़के