Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्या कोरोनावायरस के मरीजों को गोली मार रही चीनी पुलिस...जानिए वायरल वीडियो का पूरा सच...

webdunia
शुक्रवार, 14 फ़रवरी 2020 (16:40 IST)
कोरोनावायरस से चीन में अब तक 1491 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 63,837 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इस बीच सोशल मीडिया पर एक खबर तेजी से वायरल हो रही है कि चीन की सरकार ने वायरस से पीड़ित लोगों को मारना शुरू कर दिया। इस दावे के साथ एक वीडियो तेजी से शेयर किया जा रहा है।
 
क्या है वायरल वीडियो में-
 
बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की बहन रंगोली चंदेल ने यह वीडियो शेयर करते हुए लिखा- ‘इस बीच 25,000 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, चीन में वायरस से पीड़ित सभी लोगों को मारना शुरू कर दिया गया है... यह बहुत दुखद है।’
 


इस ट्वीट को अब तक 2000 से अधिक बार रीट्वीट किया जा चुका है और लगभग 3500 लोगों ने लाइक भी किया है।
 
इस वीडियो में दिख रहा है कि तीन पुलिसवाले हाथ में बंदूकें लेकर घूम रहे हैं। कुछ सेकंड्स के बाद कुछ लोग एक घर के बाहर जमीन पर पड़े नजर आ रहे हैं और मेडिकल स्टाफ उनके आसपास नजर आ रहे हैं। बैकग्राउंड में गोलियों की आवाज सुनाई देती है। फिर उसके बाद पीले जैकट पहने एक शख्स जमीन पर पड़ा दिख रहा है। इस दौरान भी गोलियों की आवाज सुनाई देती है।
 
क्या है सच-
 
आपको बता दें कि वायरल वीडियो फेक है। चीन के प्रतिष्ठित मीडिया ग्रुप China Global Television Network (CGTN) ने एक ट्वीट कर बताया है कि चीनी पुलिस द्वारा कोरोनोवायरस के मरीजों को गोली मारने की वायरल खबर फर्जी है। CGTN ने इस बाबत अपनी एक फैक्ट चेक न्यूज रिपोर्ट भी शेयर की है।
 


CGTN के मुताबिक, हथियारबंद पुलिस का वीडियो यिवु शहर का है। रिपोर्ट के अनुसार, यिवु पुलिस ने बताया कि ये पुलिसवाले एक पागल कुत्ते को मारने के लिए निकले थे।
 
रिपोर्ट में ये भी बताया गया कि वायरल वीडियो के आखिरी हिस्से में दिख रहा पीले जैकेट वाले शख्स की मौत एक रोड एक्सीडेंट में हुई थी। यह घटना वुजू शहर की है, 29 जनवरी की।
 
वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि चीनी पुलिस द्वारा कोरोनोवायरस के मरीजों को गोली मारने की वायरल खबर फर्जी है।

webdunia

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Kashmir पुलिस की चेतावनियों को गंभीरता से नहीं लेने का परिणाम था Pulwama Attack