Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

क्या 'सेक्युलर' शिवसेना ने लोगो का रंग बदलकर हरा किया...जानिए वायरल तस्वीर का पूरा सच...

webdunia
गुरुवार, 28 नवंबर 2019 (13:05 IST)
सोशल मीडिया पर इन दिनों शिवसेना के ‘नए लोगो’ की तस्वीर वायरल हो रही है। इस लोगो में उनके पारंपारिक भगवा रंग की जगह हरा रंग नजर आ रहा है। इसमें शिवसेना भी हरे रंग से लिखा गया है। इसके साथ ही हरे रंग के बैकग्राउंड में उद्धव ठाकरे भी हरे रंग का शर्ट पहने दिख रहे हैं। दावा किया जा रहा है कि सेक्युलर शिवसेना का यह नया लोगो है, जो अब उनके आगे के सभी कैंपैन्स में इस्तेमाल किया जाएगा। 
 
क्या है वायरल-
 
शिवसेना नेता संजय राउत नाम के एक ट्विटर अकाउंट से पार्टी के लोगो की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा गया है- भविष्य के कैंपेन्स के लिए नया लोगो। नए सेक्युलर शिवसेना का समर्थन करें और रीट्वीट करें। इस अकाउंट में संजय राउत की तस्वीर भी लगी है।
 


खबर लिखे जाने तक इस ट्वीट को साढ़े तीन हजार से अधिक बार रीट्वीट किया जा चुका है और साढ़े आठ हजार से अधिक लोगों ने इसे लाइक भी किया है।
 
क्या है सच-
 
गौर करने वाली सबसे पहली बात यह है कि जिस ट्विटर हैंडल से वह लोगो शेयर किया गया है वह संजय राउत का पैरोडी अकाउंट है। कुछ यूजर ने ट्वीट कर इस ओर ध्यान भी दिलाया है।

 
बता दें कि संजय राउत का ऑफिशियल ट्विटर हैंडल @rautsanjay61 है।
 
webdunia
वायरल तस्वीर को जब हमने रिवर्स इेमज सर्च किया, तो हमें शिवसेना के यूट्यूब चैनल से एक वीडियो का लिंक मिला, जिसमें वायरल तस्वीर जैसी तस्वीर लगी थी, लेकिन उसमें पार्टी का लोगो केसरिया रंग में ही था और बैकग्राउंड में भी भगवा रंग था। देखें-
 


हमने शिवसेना का ऑफिशियल ट्वियर हैंडल भी चेक किया, लेकिन हमें वहां इस प्रकार की कोई जानकारी नहीं मिली कि पार्टी ने अपना लोग बदल लिया है।
 
बता दें कि महाराष्ट्र में मिली-जुली विचारधारा वाली सरकार बनने जा रही है, जहां एक तरफ हिंदुत्व का प्रतिनिधित्व करने वाली शिवसेना है, तो दूसरी तरफ एनसीपी और कांग्रेस जो धर्मनिरपेक्षता की बात करती है। 
 
वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि शिवसेना का वायरल लोगो फर्जी है और लोगो की यह तस्वीर व्यंग्य के तौर पर बनाई गई है।

webdunia

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

यह भी खूब रही, हवाई अड्‍डे पर नहाकर खर्च बचा लेते हैं नरेन्द्र मोदी