Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

कन्या संक्रांति क्या है? क्या असर होगा इस गोचर का आपकी राशि पर,जानिए समय

webdunia
संक्रांति वह दिन है जब सूर्य एक राशि का चक्र पूरा करके दूसरी राशि में प्रवेश करता है।
 
जब सूर्य, सिंह राशि से कन्या राशि में प्रवेश करता है, तो वह दिन कन्या संक्रांति कहलाती है। कन्या संक्रांति के दिन पूर्वजों के लिए कई प्रकार के दान, श्राद्ध पूजा और अनुष्ठान किए जाते हैं।
 
इस दिन यह सब करना बहुत फलदायी होता है। कन्या संक्रांति को विश्वकर्मा पूजा के रूप में भी मनाया जाता है।
 
इस दिन बंगाल और उडीसा में विश्वकर्मा की पूजा की जाती है। भगवान विश्वकर्मा अपने भक्तों को उत्कृष्टता और उच्च गुणवत्ता के साथ काम करने की क्षमता प्रदान करते है।
 
कन्या संक्रांति पर बहुत से लोग दान, स्नान और अपने पितरो की आत्मा की शांति के लिए पूजन आदि भी करते है।
 
संक्रांति के दिन पवित्र जलाशयों में स्नान करना बहुत शुभ माना जाता है।
 
कन्या संक्रांति का समय
कन्या राशि में सूर्य 16 सितंबर 2020 को सायं 05 बजकर 07 मिनट पर प्रवेश करेगा। सूर्य कन्या राशि में पूरे माह तक रहेंगे।
राशियों पर असर 
मेष
यह गोचर इस राशि के जातकों के लिए शुभ संकेत लेकर आएगा। इस गोचर के दौरान शत्रु परास्त हो सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों का रिजल्ट उनके हित में आ सकता है।
वृष
इस राशि के जातकों को इस गोचर के दौरान मानसिक पीड़ा हो रह सकती है। उच्च अधिकारियों से विवाद हो सकता है। संतान को कष्ट की संभावना है।
मिथुन
इस राशि के जातकों के परिवार में शांति भंग हो सकती है। धन और मान हानि हो सकती है। जमीन से जुड़े मामलों में भी असफलता प्राप्त हो सकती है।
कर्क
इस राशि के जातकों को धन लाभ का योग बन सकता है। उच्च अधिकारियों संग रिश्ते अनुकूल रहेंगे। कार्यक्षेत्र में तरक्की मिल सकती है। मान-प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी।
सिंह
इस राशि के जातकों को धन, संपत्ति और व्यापार में हानि हो सकती है। परिवार में कलह हो सकती है। सिर और आंखों की पीड़ा के कारण परेशानी हो सकती है।
कन्या
इस राशि के जातकों को सूर्य गोचर से धन हानि के योग हैं। सम्मान व प्रतिष्ठा में कमी हो सकती है। कार्यक्षेत्र में मुश्किलें आ सकती हैं।
तुला
सूर्य के गोचर के कारण इस राशि के जातकों के स्थान परिवर्तन का योग बन रहा है। कार्यक्षेत्र में मतभेद की संभावना है।
वृश्चिक
इस राशि के जातकों को कार्यक्षेत्र में तरक्की के साथ मान-सम्मान मिल सकता है। अपनी वाणी से यह लोगों के दिलों को जीतेंगे।
धनु
धनु राशि वाले जातकों को सूर्य के गोचर से बिजनेस में लाभ हो सकता है। बिगड़े हुए कार्य बन सकते हैं। धन लाभ हो सकता है।
मकर
सूर्य के गोचर से इस राशि के जातकों को धन हानि हो सकती है। झूठे आरोप लग सकते हैं। इसलिए वाणी में संयम बनाए रखें। परिवार में अशांति हो सकती है।
कुंभ
इस राशि के जातकों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। कोर्ट-कचहरी के मामलों में निराशा हाथ लग सकती है। मान-सम्मान में भी कमी आ सकती है।
मीन
इस राशि के जातकों के वैवाहिक जीवन में कड़वाहट आ सकती है। धन हानि की संभावना है। कार्यों में असफलता की प्राप्ति हो सकती है।
ALSO READ: Kanya Sankranti :16 सितंबर को सूर्य का राशि परिवर्तन, राशि अनुसार करें ये उपाय


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अश्विन सर्वपितृ अमावस्या 2020 में श्राद्ध करने का मुहूर्त