कीमतों में भारी कटौती और आकर्षक ऑफर के बाद भी सितंबर में गिरी Maruti की बिक्री

मंगलवार, 1 अक्टूबर 2019 (13:00 IST)
देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड (Maruti Suzuki India Ltd) की कारों की बिक्री के आंकड़ों में फिर गिरावट दर्ज की गई है। कंपनी ने कई कारों के दामों में बड़ी कटौती कर आकर्षक ऑफर भी दिए थे, लेकिन इनका असर सितंबर की बिक्री में दिखाई नहीं दिया। सितंबर महीने में कार की बिक्री 24.4 प्रतिशत घटकर 1,22,640 वाहन रह गई। पिछले साल सितंबर में कंपनी ने 1,62,290 वाहन बेचे थे। कंपनी ने सोमवार को अपनी सबसे छोटी एसयूवी maruti s presso को लांच किया था।
 
मारुति सुजुकी ने बयान में कहा कि सितंबर में घरेलू बाजार में उसकी बिक्री 26.7 प्रतिशत गिरकर 1,12,500 वाहनों पर रही। सितंबर 2018 में उसने 1,53,550 गाड़ियां बेची थीं।
 
ALSO READ: खत्म हुआ इंतजार, मारुति ने लांच की मिनी एसयूवी S-Presso पेश, कीमत 3.69 लाख रुपए
 
Baleno RS के दाम 1 लाख रुपए तक घटाए : कंपनी ने अपनी हैचबैक कार 'बलेनो आरएस' (Baleno RS) की कीमत 1 लाख रुपए तक घटा दी थी। इस हफ्ते की शुरुआत में कंपनी ने चुनिंदा मॉडलों के दाम में 5 हजार रुपए तक की कटौती की थी।

इसमें आल्टो 800, आल्टो के 10, स्विफ्ट डीजल, सेलेरियो, बलेनो डीजल, इग्निस, डिजायर डीजल, टूर एस डीजल, विटारा ब्रेजा और एस क्रॉस के सभी मॉडल शामिल थे। ये मॉडल 2.93 लाख रुपए से 11.49 लाख रुपए के हैं। मारुति सुजुकी ने बयान में कहा था कि उसने उपरोक्त कटौती के साथ बलेनो आरएस की शोरूम-कीमत में 1 लाख रुपए तक की कटौती की है।
 
घटी मिनी कारों की बिक्री : ऑल्टो और वैगन आर समेत कंपनी की मिनी कारों की बिक्री इस दौरान 42.6 प्रतिशत घटकर 20,085 वाहन रह गई। एक साल पहले समान महीने में यह आंकड़ा 34,971 इकाई पर था।

इसी तरह कॉम्पैक्ट कारों में कंपनी की बिक्री 22.7 प्रतिशत घटकर 57,179 इकाई रह गई, जो सितंबर, 2018 में 74,011 इकाई थी। इस खंड में स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर गाड़ियां आती हैं।
 
सियाज की बिक्री घटी : कंपनी की सेडान कार सियाज की बिक्री भी भारी गिरावट के साथ 1,715 इकाई पर आ गई। पिछले साल इसी महीने में उसने 6,246 सियाज कारें बेची थीं।

इसी अवधि में कंपनी के यूटिलिटी वाहनों विटारा ब्रेजा, एस क्रॉस और अर्टिगा की बिक्री मामूली गिरकर 21,526 इकाई पर रही, जो एक साल पहले इसी महीने में 21,639 इकाई पर थी। कंपनी का निर्यात 17.8 प्रतिशत घटकर 7,188 इकाई रह गया, जो एक साल पहले सितंबर में 8,740 वाहनों पर था।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख UP के उपचुनाव में प्याज के दामों को मुद्दा बना सकता है विपक्ष, एक्शन में योगी सरकार