Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना महामारी के बावजूद कैसे ख़ुशहाल बना हुआ है खाड़ी का ये देश

webdunia
मंगलवार, 11 जनवरी 2022 (08:06 IST)
लिंडसी गैलोवे, बीबीसी ट्रेवल
एक ओर जहां कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने यूरोप के कई देशों को फिर से लॉकडाउन लगाने को मजबूर कर दिया है, वहीं संयुक्त अरब अमीरात या यूएई एक ऐसा देश है जिसपर ओमिक्रॉन का ज़्यादा असर नहीं दिख रहा। खाड़ी के इस देश ने दुनिया भर के सैलानियों के लिए अपने दरवाज़े खोल रखे हैं।
 
यूएई इस वैश्विक महामारी के दौरान अपनी वैक्सीनेशन की अच्छी गति के साथ-साथ व्यापक और सस्ती टेस्टिंग सुविधाओं के कारण दुनिया के कई अन्य देशों की तुलना में कोरोना से बेहतर तरीके से जूझ रहा है।
 
यूएई वर्तमान में ब्लूमबर्ग की कोविड रेज़िलिएंस रैंकिंग में शीर्ष के देशों में शामिल है। इस रैंकिंग में 53 देशों के स्वास्थ्य सुविधा मानकों, कोरोना संक्रमण से होने वाली मौतों और यात्रा को फिर से खोलने जैसे 12 संकेतकों को शामिल किया गया है।
 
यही कारण है कि यूरोप में ओमिक्रॉन के फैलने के बावजूद, यूएई संक्रमण को नियंत्रित करने और देश को पर्यटकों के लिए खुला रखने में सफल रहा है।
 
महामारी के कारण, यूएई के सबसे अधिक आबादी वाले शहर दुबई ने भी खुद को एक वैश्विक पर्यटन स्थल से अपने लोगों की हिफाज़त करने वाले शहर में तब्दील कर लिया है।
 
मिर्ज़ाम चॉकलेट कंपनी के मुख्य चॉकलेट अधिकारी कैथी जॉनस्टन 30 साल से दुबई में रह रही हैं। वो कहती हैं, "हम सभी को एक-दूसरे की हिफाजत के लिए मिलकर काम करना पड़ा। लोग स्थानीय विचारों और परियोजनाओं का समर्थन कर रहे हैं। चीजें धीमी रफ्तार से ही सही लेकिन आगे बढ़ रही हैं। दो साल पहले की तुलना में मुझे ऐसा लगता है कि मैं किसी दूसरे ग्रह पर आ गई हूं और मुझे ये पसंद है।"
 
यूएई क्यों जाना चाहिए?
यहां के लोगों का कहना है कि इस समय यहां मौसम ठीक है। दुबई के रहने वाले तला मोहम्मद कहते हैं, "दुबई आने के लिए अक्टूबर से मई साल का सबसे अच्छा समय होता है क्योंकि समंदर के साहिल पर ज्यादा गर्मी नहीं होती है।"
 
इसका मतलब ये हुआ कि इस मौसम में आउटडोर इवेंट्स और खुशनुमा शामों की रौनक एक बार फिर लौट आती है। इस तटीय शहर के अलग-अलग ठिकानों पर ऐसी मनोरंजक गतिविधियां हर तरफ़ देखी जा सकती हैं।
 
ये शहर छह महीने तक चलने वाले 'एक्सपो 2020' की भी मेजबानी कर रहा है, जो मार्च, 2022 तक चलेगा। इस एक्सपो में दुनिया भर की प्रमुख कंपनियों के स्टॉल लगे हैं। इसमें शामिल कंपनियां अपने अनूठे और विविध उत्पादों और भविष्य की योजनाओं का ब्लूप्रिंट पेश कर रही हैं।
 
कैथी जॉनस्टन कहती हैं, "एक्सपो में जाना न भूलें। इसके लिए पूरा एक हफ्ता अलग रख दें। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपको जापानी सुशी के लिए तीन घंटे तक लाइन में खड़ा रहना पड़े। एक्सपो सेंटर में रेस्तरां 'बैरन' खजूर की खीर का लुत्फ़ लें और ऑस्ट्रेलियाई स्टॉल में आसमान के नीचे सितारों के ख्वाब देखें।"
 
अनूठा सफ़र
 
दुबई ने पिछले एक दशक में सौर ऊर्जा, जल संरक्षण और ग्रीन बिल्डिंग और बुनियादी ढांचे में भारी निवेश के साथ अधिक टिकाऊ व्यवस्था बनाने के लिए कड़ी मेहनत की है।
 
एक्सपो 2020 में सस्टेनेबिलिटी पवेलियन अलग से बनाया गया है। इसमें एक सोलर ट्री देखा जा सकता है जो ऊर्जा और छाया दोनों ही देता है। पवेलियन का एक अन्य आकर्षण 9,000 पौधों और जड़ी-बूटियों के साथ बना एक बड़ा सा वर्टिकल फार्म है।
 
कैथी जॉनस्टन कहती हैं, "पिछले दो सालों में कई सारे रेस्तरां खुले हैं। महामारी ने अप्रत्याशित रूप से स्थानीय सामग्री और कुशल रसोइयों को अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर दिया है।"
 
तला मोहम्मद कहते हैं कि स्थानीय चीज़ों के साथ जापानी व्यंजनों का स्वाद लेने के लिए ईडन हाउस के रूफटॉप रेस्तरां मूनराइज़ का रुख किया जा सकता है। वो बताते हैं, "उदाहरण के लिए एक स्पैनिश व्यंजन चुतोरो है, जिसमें दुबई से 100 किलोमीटर के फ़ासले पर मौजूद रस अल खैमाह का शहद इस्तेमाल होता है। केवल आठ सीटों वाले इस रेस्तरां को पहले से बुक करना होता है।"
 
स्थानीय निवासी विभा धवन एक ट्रैवल कंपनी की यात्रा सलाहकार भी हैं। वो 'बोका' रेस्तरां जाने की सलाह देती हैं। ये रेस्तरां संयुक्त अरब अमीरात के फिश फार्म से सैमन (एक तरह की मछली) और स्थानीय ऊंटों के दूध का इस्तेमाल करता है।
 
इसके अलावा, 'द सम ऑफ अस' रेस्तरां दुबई के उन कुछ चुनिंदा कैफे में से एक है जो एवोकाडो के बीज से बने स्ट्रॉ का इस्तेमाल करता है। जो ग्राहक इस रेस्तरां में घर से रीयूजेबल कप लेकर आते हैं, उन्हें दस फ़ीसदी का डिस्काउंट भी ऑफ़र किया जाता है।
 
शहर में पर्यावरण से लगाव बनाने से जुड़ी इन कोशिशों की निरंतरता बनी रहे, इसे समझने के लिए विभा धवन अमीरात बायो फार्म जाने की सलाह देती हैं। ये मुल्क का सबसे बड़ा प्राइवेट सेक्टर का ऑर्गेनिक फार्म है।
 
वो बताती हैं, "वहां आप एक समूह में जाएं और शाम ढलने का वक़्त सबसे बेहतर रहेगा। इससे आप कई एकड़ में फैले उनके फार्म को अच्छी तरह से देख सकेंगे। वहां सालों भर उम्दा लजीज खाने का भी इंतज़ाम रहता है।"
 
विभा धवन संयुक्त अरब अमीरात के रेगिस्तान का आनंद लेने के लिए 'अल महा रिज़ॉर्ट और स्पा' की सिफारिश करती हैं। दुबई के पहले नेशनल पार्क के भीतर स्थित इस पांच सितारा रिज़ॉर्ट का मकसद रेगिस्तानी वातावरण के साथ-साथ अरबी नस्ल के दुर्लभ हिरण को संरक्षित करना भी है।
 
आज इन अरब हिरणों का एक बड़ा झुंड जिसमें उनकी तादाद 300 के करीब है, बिना किसी डर और खतरे के यहां खुलेआम घूमते हैं।
 
इसके लिए दशकों से काम किया जा रहा है। यहां आने वाले लोगों के लिए साइट पर फील्ड गाइड के साथ पैदल, जीपों, ऊंटों या घोड़े पर नेशनल पार्क में घूमने की व्यवस्था की जाती है।
 
शहर के बीचोबीच हाल ही में बना '25 ऑवर्स वन सेंट्रल' होटल एक नया अनुभव देता है। सैलानियों को लुभाने के लिए अरबी शैली यहां किस्सागोई की जाती है। होटल की लॉबी 5,000 से अधिक किताबों के साथ एक गोलाकार 'फाउंटेन ऑफ टेल्स' लाइब्रेरी से शुरू होती है।
 
इस लाइब्रेरी में स्थानीय कलाकारों की कला देखी जा सकती है। पूरे होटल में प्राचीन और आधुनिक खानाबदोश अरब जनजातियों के जीवन का एक सुंदर मिश्रण पेश करती कलाकृतियां देखी जा सकती हैं।
 
वहां जाने से पहले क्या पता करें
ओमिक्रॉन वेरिएंट के कारण यात्रा प्रतिबंध तेजी से बदल रहे हैं, इसलिए नवीनतम घोषणाओं और नियमों की जानकारी के लिए यूएई ट्रैवल टू दुबई वेबसाइट ज़रूर देखें।
 
फिलहाल दुबई उन सैलानियों के लिए खुला है, जिन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा मान्यताप्राप्त वैक्सीन ले रखी है। हालांकि, आने पर पर्यटकों को भी कोरोना टेस्ट से गुजरना होगा।
 
यात्रियों को यूएई का आधिकारिक ऐप 'अल हसन' डाउनलोड करना चाहिए जो कोविड टेस्ट के परिणाम और टीकाकरण की स्थिति को इंगित करने के लिए रंग आधारित कोड सिस्टम का उपयोग करता है।

Share this Story:

वेबदुनिया पर पढ़ें

समाचार बॉलीवुड लाइफ स्‍टाइल ज्योतिष महाभारत के किस्से रामायण की कहानियां धर्म-संसार रोचक और रोमांचक

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

प्राकृतिक गैस पर्यावरण के लिहाज से ठीक है या नहीं