शिकारा में कश्मीरी पंडितों के दर्द को बेचने के आरोप पर भड़के विधु विनोद चोपड़ा, बोले- गधे हैं ऐेसे लोग

गुरुवार, 13 फ़रवरी 2020 (15:33 IST)
विधु विनोद चोपड़ा की फिल्म शिकारा को बॉक्स ऑफिस पर मिली जुली प्रतिक्रिया मिल रही है। कश्मीरी पंडितों के विस्थापन पर बनी फिल्म शिकारा की एक तरफ लोग तारीफ कर रहे हैं, तो वहीं कुछ आलोचना भी कर रहे हैं।


लोगों को शिकायत है कि विधु कश्मीरी पंडितों का दर्द बेच रहे हैं और उन्होंने कश्मीरी पंडितों के निष्कासन की कहानी को ईमानदारी से पर्दे पर नहीं उतारा। अब इस पर विधु विनोद चोपड़ा का रिएक्शन सामने आया है। उन्होंने फिल्म पर सवाल उठाने वालों को करारा जवाब दिया है।

ALSO READ: राजकुमार राव की 'छलांग' की रिलीज डेट बढ़ी आगे, वजह है बेहद खास
 
विधु विनोद चोपड़ा का कहना है कि जो लोग उनकी इस फिल्म को लेकर ऐसी बातें सोच रहे हैं वे गधे हैं। उनका कहना है कि जिस फिल्म को बनाने के पीछे 11 साल की मेहनत लगी है, आज रिजल्ट फनी है। मैंने एक फिल्म बनाई जिसने पहले दिन 30 करोड़ की कमाई की और यह फिल्म जो मैंने अपनी मां की याद में बनाई है, उसने 30 लाख की कमाई की और लोग कहते हैं कि मैंने कश्मीरी पंडितों के दर्द को भुनाया है।
 
विधु विनोद चोपड़ा ने शिकारा के बारे में बात करते हुए कहा, थ्री इडियट्स ने पहले दिन 33 करोड़ का कलेक्शन किया था। मुझे पता है शिकारा ने पहले दिन 30 लाख का कलेक्शन किया है। मैंने इस फिल्म को अपनी मां की याद में बनाया है। कुछ लोगों का कहना है कि मैंने पैसा कमाने के लिए कश्मीरी पंडितों के दर्द को इस्तेमाल किया। ऐसे लोग गधे हैं।
 
विधु विनोद ने बताया कि सोशल मीडिया पर फिल्म को लेकर नाराजगी के अलावा जिस चीज ने उन्हें सबसे ज्यादा हैरान कर दिया है वह IMDB की रेटिंग है। उनकी इस फिल्म को मिली रेटिंग, 8 या 9 से घटकर 1 पर पहुंच गई है।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख राजकुमार राव की 'छलांग' की रिलीज डेट बढ़ी आगे, वजह है बेहद खास