Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना वैक्सीन के निर्यात पर सरकार का बड़ा फैसला, घरेलू मांग पूरी करने पर ध्यान

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
गुरुवार, 25 मार्च 2021 (08:09 IST)
नई दिल्ली। भारत आगामी कुछ महीनों तक कोविड-19 टीकों के निर्यात को संभवत: विस्तार नहीं देगा, क्योंकि कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़ने के मद्देनजर उसका ध्यान घरेलू मांग को पूरा करने पर केंद्रित हो गया है।
 
इस घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले अधिकारियों ने बुधवार को बताया कि भारत विभिन्न देशों से की जा चुकी मौजूदा प्रतिबद्धताएं पूरी करेगा, लेकिन घरेलू मांग पूरा करने के लिए आगामी कुछ महीनों के लिए निर्यात नहीं बढ़ाएगा।
 
उन्होंने बताया कि दो-तीन महीनों बाद हालात की समीक्षा की जाएगी। भारत ने विदेशों में टीके की आपूर्ति करना 20 जनवरी से शुरू किया था। भारत अब तक करीब 80 देशों में टीके की छह करोड़ चार लाख खुराक भिजवा चुका है।
 
उल्लेखनीय है कि देश में 16 जनवरी से कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई थी। अब तक 5 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन की खुराक लगाई जा चुकी है। पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया। इसके बाद 60 वर्ष के ऊपर के लोगों और 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों को टीका लगाया गया। अब 1 अप्रैल से 45 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।
 
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में कोविड-19 से जान गंवाने वालों में करीब 88 प्रतिशत लोग 45 साल या उससे ज्यादा आयुवर्ग के थे। इस आयुवर्ग में मामलों से जुड़ी मृत्युदर 2.85 प्रतिशत है, जबकि राष्ट्रीय औसत 1.37 प्रतिशत है।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
भाजपा नेता दिलीप घोष का विवादित बयान, ममता से कहा- चोट दिखाने के लिए बरमूडा पहनो