कोविड-19 : गरीबों, दिहाड़ी मजदूरों की मदद के लिए सामुदायिक रसोईघरों का नेटवर्क बनाएगी भाजपा

गुरुवार, 26 मार्च 2020 (13:36 IST)
नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस (Corona virus) के कारण उत्पन्न स्थिति से मुकाबला करने के प्रयासों के तहत भारतीय जनता पार्टी देशभर में ऐसे सामुदायिक रसोईघरों का एक नेटवर्क बनाने जा रही है जो प्रतिदिन कम से कम 1000 लोगों को भोजन परोसने में सक्षम हों।

पार्टी के एक पदाधिकारी ने बताया, इस योजना को ‘इंडिया फाइट्स कोरोना-बीजेपी इंडिया’ के बैनर तले आगे बढाया जा रहा है जो 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान भाजपा की विभिन्न गतिविधियों का हिस्सा है। उन्होंने बताया कि सामुदायिक रसोईघरों का एक नेटवर्क बनाने का मकसद शहरी गरीबों, निर्माण कर्मियों, दिहाड़ी मजदूरों और उन सभी लोगों की सहायता करना है जो असंगठित क्षेत्र में काम कर रहे हैं और जिनके कोरोना वायरस के कारण देशव्यापी बंद के दौरान प्रभावित होने की आशंका है।

पार्टी ने इस कार्यक्रम में शामिल होने को इच्छुक संस्थानों से उनके संपर्क के व्यक्ति का ब्यौरा, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी और संपूर्ण पता मांगा है। इच्छुक संस्था से 500 शब्दों में संक्षिप्त परिचय देने को भी कहा गया है।

बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई के मद्देनजर ऑडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर भारत के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ संवाद किया था और कार्यकर्ताओं से ‘लॉकडाउन’ के दौरान रोजाना पांच-पांच गरीब लोगों को भोजन उपलब्ध कराने को कहा था।

नड्डा ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा था कि कार्यकर्ता केंद्र सरकार एवं संबंधित राज्य सरकारों के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए मास्क एवं सैनिटाइजर्स के वितरण और स्वच्छता में प्रशासन का सहयोग करें। उन्होंने कार्यकर्ताओं से कहा था, हमें उनकी मदद करनी चाहिए जो लॉकडाउन के कारण भोजन प्राप्त करने में सक्षम नहीं हैं।

इससे पहले बुधवार को ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी कहा था कि अभी नवरात्र शुरू हुआ है और आज हम अगले 21 दिन तक 9 गरीब परिवारों की मदद करने का प्रण लें। भाजपा अध्यक्ष गुरुवार की शाम को राष्ट्रीय महासचिवों एवं पार्टी पदाधिकारियों के साथ आडियो-वीडियो संवाद करेंगे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona Virus Live Updates : 1 लाख 70 हजार करोड़ का आर्थिक पैकेज