Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

फर्जी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट पर कैबिनेट मंत्री ने की लैब में छापेमारी, 4 युवक हिरासत में

webdunia

निष्ठा पांडे

शनिवार, 5 जून 2021 (09:16 IST)
ऋषिकेश। फर्जी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट के सहारे हरियाणा से टिहरी जनपद में घुस रहे लोगों की जानकारी सार्वजनिक होने के बाद कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने ऋषिकेश के ढालवाला स्थित पुलिस चेक पोस्ट पर तैनात एक लैब की पिकेट पर अचानक छापेमारी की। मौके पर पुलिस और मंत्री को देख लैब संचालकों में हड़कंप मच गया। इस दौरान लैब की पिकेट पर संदिग्ध किट भी मिलने की जानकारी मिली है जिन्हें पुलिस ने जांच के लिए अपने कब्जे में ले लिया।

ALSO READ: RT-PCR टेस्ट क्या है,जानिए Details
 
बताया जा रहा है कि फर्जी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट देने की एवज में लोगों से 1,000 रुपए वसूले जा रहे थे। रिपोर्ट देने के लिए भी मात्र 1 घंटे का समय लिया जा रहा था। कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि इस प्रकार की शिकायतें लगातार मिल रही थीं। मंत्री ने दावा किया कि जांच में जो भी संलिप्त पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
 
फर्जी आरटी-पीसीआर जांच रिपोर्ट के सहारे क्षेत्र में पहुंचने वाले लोगों की वजह से जहां कोविड-19 के संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है, वहीं सरकार के स्वास्थ्य बुलेटिन में भी इसका असर देखा जा रहा है। अब यह भी आशंका जताई जा रही है कि रिपोर्ट देने वाली लैब के साथ दूसरी लैब के संचालकों की मिलीभगत भी हो सकती है।

webdunia
 
हरियाणा से उत्तराखंड पहुंचे 4 युवकों को स्वास्थ्य विभाग ने जो आरटी-पीसीआर रिपोर्ट दी थी, वो फर्जी थी। हरियाणा से आए युवकों ने कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल से शिकायत की थी। युवकों की फर्जी रिपोर्ट देखने के बाद शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल गुस्से में आ गए और ढालवाला चेक पोस्ट पर पहुंचकर उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई। चारों युवकों को भी हिरासत में लिया गया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Weather Alert: केरल व पूर्वोत्तर भारत में वर्षा की संभावना, गुजरात में हुई हल्की बारिश