COVID-19 : चुनिंदा मार्गों पर आज से फिर शुरू होगी रेल सेवा

मंगलवार, 12 मई 2020 (00:56 IST)
नई दिल्ली। कोरोना वायरस (Corona virus) कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए लागू देशव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर रेलवे द्वारा सभी नियमित यात्री सेवाओं को बंद किए जाने के लगभग 2 महीने बाद यानी आज से चुनिंदा मार्गों पर 15 जोड़ी विशेष रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी।

राष्ट्रीय परिवाहक ने यात्रियों के लिए विशेष दिशानिर्देश जारी किए हैं जिसके तहत सफर करने वाले यात्रियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा और उन्हें अपना भोजन खुद लेकर आना होगा। शुरू में रेलवे ने सोमवार को शाम चार बजे से आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर टिकटों की बुकिंग की घोषणा की थी लेकिन संभावित यात्रियों की भारी भीड़ के चलते वेबसाइट ठप हो गई।

यह पोर्टल शाम करीब छह बजे बहाल हुआ और 20 मिनट में ही हावड़ा से दिल्ली की ट्रेन के सारे टिकट बुक हो गए। रात सवा नौ बजे करीब 30000 पीएनआर सृजित किए गए और अगले सात दिनों के लिए 54000 से अधिक यात्रियों के लिए ट्रेन में आरक्षण किया गया।

लॉकडाउन के दौरान रेलवे ने देशभर में आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाने के लिए मालगाड़ियां चलाई थीं। रेलवे ने देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह राज्यों में पहुंचाने के लिए एक मई से 11 मई तक 400 श्रमिक विशेष रेलगाड़ियां चलाईं। ये ट्रेनें राज्यों के अनुरोध पर चलाई गईं।

भारतीय रेल ने कुछ चुनिंदा मार्गों पर वातानुकूलित यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करते हुए 12 मई से चलने वाली रेलगाड़ियों के संबंध में नए दिशा निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना शामिल है ताकि यात्रियों की स्वास्थ्य जांच की जा सके।

आज से यात्री रेलगाड़ियों में सवार होने वालों को रेलवे पहले की तरह चादर, तौलिया, सामान्य भोजन, पेय आदि मुहैया नहीं कराएगा। यात्रियों को मोबाइल में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना होगा।
इन रेलगाड़ियों को पूरी क्षमता के साथ चलाया जाएगा, लेकिन रेलवे जोन को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं कि स्टेशनों पर अलग-अलग प्रवेश और निकास द्वार सुनिश्चित किए जाने चाहिए ताकि यात्रियों को एक-दूसरे के आमने-सामने से होकर नहीं गुजरना पड़े।

स्टेशनों पर सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियमों का पालन और रेलगाड़ियों में सुरक्षा और स्वच्छता मानकों का ध्यान रखना होगा। अभी के लिए, रेलवे ने 12 मई से 20 मई के बीच चलने वाली रेलगाड़ियों के लिए समय सारणी जारी की है। ये रेलगाड़ियां रेलवे द्वारा जारी की गई समय सारणी के अनुसार दैनिक, साप्ताहिक या द्वि-साप्ताहिक रेलगाड़ियों के रूप में चलेंगी। 16 मई और 19 मई को कोई रेलगाड़ी नहीं चलेगी।

ये रेलगाड़ियां नई दिल्ली और देश के सभी प्रमुख शहरों डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी के बीच चलेंगी।

बारह मई को तीन रेलगाड़ियां नई दिल्ली से रवाना होंगी और डिब्रूगढ़, बेंगलुरु और बिलासपुर पहुंचेंगी। हावड़ा, राजेन्द्र नगर (पटना), बेंगलुरु, मुंबई मध्य और अहमदाबाद से एक-एक रेलगाड़ी रवाना होगी और दिल्ली पहुंचेगी।

तेरह मई को नौ रेलगाड़ियां चलाई जाएंगी जिनमें से आठ नई दिल्ली से रवाना होंगी और हावड़ा, राजेन्द्र नगर (पटना), जम्मू तवी, तिरुवनंतपुरम, चेन्नई, रांची, मुंबई और अहमदाबाद पहुंचेंगी। नौवीं एक विशेष रेलगाड़ी है जो भुवनेश्वर से नई दिल्ली आएगी।

रेलवे 14 मई को पांच रेलगाड़ियां डिब्रूगढ़, जम्मू तवी, बिलासपुर और रांची से राष्ट्रीय राजधानी के लिए चलाएगा और एक रेलगाड़ी नई दिल्ली से भुवनेश्वर के लिए चलाई जाएगी। पंद्रह मई को तीन रेलगाड़ियां निर्धारित हैं जिनमें से दो रेलगाड़ी तिरुवनंतपुरम से और एक चेन्नई मध्य से चलाई जाएगी और एक रेलगाड़ी नई दिल्ली से मडगांव के लिए संचालित होगी।

लॉकडाउन का तीसरा चरण समाप्त होने की तिथि 17 मई को एक रेलगाड़ी मडगांव से नई दिल्ली और एक रेलगाड़ी नई दिल्ली से सिकंदराबाद के लिए रवाना होगी। अगरतला से नई दिल्ली के लिए एकमात्र रेलगाड़ी 18 मई को रवाना होगी जबकि 20 मई को निर्धारित दो रेलगाड़ियां नई दिल्ली से अगरतला और सिकंदराबाद से नई दिल्ली के लिए हैं।

इन विशेष रेलगाड़ियों में सिर्फ वातानुकूलित श्रेणी (एसी-1, एसी-2 और एसी-3) के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरूप होगा। सार्वजनिक परिवहन का कहना है कि इन रेलगाड़ियों में अग्रिम आरक्षण अधिकतम सात दिन पहले तक होगा, फिलहाल आरएसी और वेटिंग टिकट जारी नहीं होगा, रेलगाड़ी में टीटीई को किसी का टिकट बनाने की अनुमति नहीं होगी।

भारतीय रेल ने टिकट रद्द कराने का भी विकल्प दिया है। इस संबंध में उसका कहना है कि यात्री रेलगाड़ी के प्रस्थान से 24 घंटे पहले तक ही टिकट रद्द करा सकते हैं लेकिन टिकट रद्द होने पर कुल किराए का 50 प्रतिशत शुल्क के रूप में काट लिया जाएगा।(भाषा) 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख देश में 18 मई से Lockdown का चौथा चरण, मुख्यमंत्रियों से पीएम मोदी बोले- राज्य करें लीड