गुजरात के उपमुख्यमंत्री बोले, कोरोना से डरकर लोग घरों के भीतर रहने का जोखिम नहीं उठा सकते

शुक्रवार, 15 मई 2020 (08:16 IST)
अहमदाबाद। गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने लॉकडाउन के अगले चरण में और अधिक ढील देने का संकेत देते हुए गुरुवार को कहा कि आर्थिक गतिविधियां भी महत्वपूर्ण हैं और लोग अब महामारी से डरकर घरों में बैठे रहने का जोखिम नहीं उठा सकते।
ALSO READ: गुजरात सरकार ने शुरू की 2 प्रतिशत ब्याज पर 1 लाख रुपए ऋण की योजना
पटेल ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा कि राज्य सरकार और अधिक ढील देने के पक्ष में है ताकि लॉकडाउन से प्रभावित लोग अपने काम-धंधे शुरू कर सकें। उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अगर हम लोगों को उनके कामकाज से दूर रखेंगे तो यह उनके और उनके परिवार के लिए नुकसानदेह साबित होगा। अगर यही हाल रहा तो इससे राज्य की आर्थिक हालत भी बिगड़ जाएगी।
 
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाए हैं और पहले भी कुछ छूट दे चुकी है। लॉकडाउन का मौजूदा चरण 17 मई को खत्म हो जाएगा और केंद्र सरकार के मुताबिक इसका अगला चरण नए रूप में सामने आएगा।
 
पटेल ने संकेत दिए कि राज्य की भाजपा सरकार कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जारी रखते हुए लॉकडाउन में और अधिक ढील देने पर विचार कर रही है। गुजरात में अबतक कोरोना वायरस संक्रमण के 9,600 मामले सामने आ चुके हैं।
 
पटेल ने कहा कि आर्थिक गतिविधियां भी महत्वपूर्ण हैं। लोग अब कोरोना वायरस से डरकर से घर पर बैठने का जोखिम नहीं उठा सकते। हमारी सरकार की भी यही सोच है। यह लोगों को उनकी आजीविका कमाने में मदद करने का समय है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख क्वारंटाइन से किया इंकार, स्पेशल ट्रेन में बेंगलुरु से फिर दिल्ली लौटेंगे 19 यात्री