Corona से 4 कदम आगे केजरीवाल सरकार, स्थायी Lockdown से इंकार

शनिवार, 30 मई 2020 (14:00 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्‍यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि 'आप'की सरकार कोरोना वायरस (Corona Virus) से चार कदम आगे है। उन्होंने कहा कि 17 हजार से अधिक मामलों में से केवल 2100 मरीज अस्पतालों में भर्ती हैं, जबकि अन्य मरीजों का उपचार घर पर ही चल रहा है। 
 
मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हम कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। हालांकि हम स्थायी लॉकडाउन नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि हम यह सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं कि कोविड-19 से मरीजों की मौत ना हो। अस्पतालों में बेड की उपलब्धता के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए एक ऐप भी डेवलप कर रहे हैं। 
 
केजरीवाल ने कहा कि हमने संक्रमित मरीजों के लिए बड़ी संख्या में बेड का प्रबंध किया हैं, कोविड-19 के 17 हजार से अधिक मामलों में से केवल 2100 मरीज अस्पतालों में हैं। पिछले 15 दिनों में संक्रमण के मामलों में 8500 की वृद्धि हुई, लेकिन केवल 500 लोग अस्पतालों में भर्ती हुए, अधिकतर लोगों का उपचार घर पर किया जा रहा है।
 
उन्होंने कहा कि आज कोई यह नहीं कह सकता कि एक महीना या दो महीने और लॉकडाउन कर लो तो कोरोना ठीक हो जाएगा। हम स्थायी लॉकडाउन नहीं कर सकते। अगर कोरोना रहेगा तो इसका इलाज करने का इंतजाम भी करना पड़ेगा। हमारी पूरी सरकार इस समय कोरोना के मरीजों का इलाज करने पर ध्यान दे रही है।
 
मुख्‍यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के कुल 17 हजार 386 केस हैं। उसमें से 7 हजार 846 लोग ठीक हो गए हैं, जबकि 398 लोगों की मौत हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि बीते 15 दिन में 8500 मरीज़ बढ़े हैं, लेकिन अस्पतालों में सिर्फ 500 मरीज ही भर्ती हुए हैं। ज्यादातर लोगों को हलके लक्षण हैं और वे घर में ही ठीक हो रहे हैं।
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख जर्मनी में तीन महीने से फंसे आनंद आखिरकर स्वदेश लौटेंगे