Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बेंगलुरु, सूरत, हैदराबाद और जालंधर में फंसे मजदूरों को लेकर UP पहुंची ट्रेन

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
गुरुवार, 7 मई 2020 (13:33 IST)
लखनऊ/बांदा। गुजरात प्रांत में फंसे 1220 प्रवासी मजदूरों को सूरत महानगर से लेकर एक स्पेशल श्रमिक ट्रेन गुरुवार सुबह बांदा पहुंच गई है। यहां रेलवे स्टेशन में ही सभी मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है और अब उन्हें बसों से नजदीकी आश्रय स्थल भेजा जा रहा है। इसी तरह गुरुवार को ट्रेनें प्रवासी मजदूरों को लेकर पंजाब के जालंधर से लखनऊ, बेंगलुरु से लखनऊ तथा हैदराबाद से बाराबंकी पहुंची।

बांदा के अपर जिला अधिकारी (एडीएम) संतोष बहादुर सिंह ने बताया, गुजरात प्रांत में फंसे 1220 प्रवासी मजदूरों को लेकर एक स्पेशल श्रमिक ट्रेन बुधवार दोपहर बाद करीब ढाई बजे सूरत महानगर से रवाना हुई, जो यहां बांदा जंक्शन के प्लेटफॉर्म संख्या-2 में गुरुवार सुबह 6:40 बजे पहुंची है।

उन्होंने बताया, रेलवे जंक्शन (स्टेशन) में सभी मजदूरों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई है और अब उन्हें सरकारी बस से उनके नजदीकी आश्रय स्थल भेजा जा रहा है। एडीएम ने बताया, इन प्रवासी मजदूरों में 1070 बांदा जिले के हैं बाकी फतेहपुर, चित्रकूट, महोबा और हमीरपुर जिलों के हैं।

उन्होंने बताया कि बाह्य जनपदों के मजदूरों बाबत संबंधित जिलाधिकारियों को सूचित कर दिया गया है। साथ ही जिले के मजदूरों को तहसील स्तर के आश्रय स्थल भेजा जा रहा है। इसके लिए 50 सरकारी बसों का इंतजाम किया गया है। फिलहाल सभी मजदूर 14 दिन के लिए आश्रय स्थलों में ही रखे जाएंगे।

उधर लखनऊ में उप्र राज्य सड़क परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक राजशेखर ने गुरुवार को बताया कि बेंगलुरु से 1192 श्रमिकों लेकर एक ट्रेन गुरुवार सुबह लखनऊ पहुंची। इन श्रमिकों की जांच के बाद इन्हें 43 सरकार बसों से सोनभद्र, गाजीपुर, गोंडा, बलरामपुर, प्रतापगढ़, अमरोहा, अंबेडकर नगर, मुरादाबाद, गोरखपुर, कुशाीनगर देवरिया रवाना किया गया।

उन्होंने बताया कि इसी तरह हैदराबाद से चलकर एक ट्रेन 1079 श्रमिकों को लेकर गुरूवार सुबह बाराबंकी पहुंची। इन सभी श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण कर इन्हें 40 बसों के माध्यम से हरदोई, लखनऊ, सीतापुर और लखीमपुर रवाना किया गया।

इसी तरह बुधवार देर रात पंजाब के जालंधर से 1164 यात्रियों को लेकर एक ट्रेन लखनऊ पहुंची। इन श्रमिकों को 38 बसो के माध्यम से विभिन्न जनपदों में उनके गंतव्य पहुंचाया गया।(भाषा) 

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
क्या एस्पिरिन, नींबू का रस और शहद के मिश्रण से हो सकता है कोरोना का इलाज… जानिए सच...