India Vs Pakistan World Cup : गेम ऑफ थ्रोंस से बड़ा ब्लॉकबस्टर है भारत - पाक मुकाबला

शुक्रवार, 14 जून 2019 (20:56 IST)
मैनचेस्टर। दुनिया की सबसे मशहूर वेब सीरीज गेम ऑफ थ्रोंस बेशक बेहद लोकप्रिय है लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व कप क्रिकेट मुकाबला इस सीरीज की लोकप्रियता पर भी भारी पड़ता है।
 
भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को मैनचेस्टर में विश्व कप का मुकाबला होने जा रहा है और इस मैच को इस विश्व कप के महामुकाबले की संज्ञा पहले से ही दी जा चुकी है। दुनियाभर में फैले क्रिकेट प्रशंसकों को इस मुकाबले का बड़ी बेसब्री से इंतजार है और इस मैच के टिकट महीनों पहले ही बिक गए थे।
 
भारत और पाकिस्तान के बीच 2015 के विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड में खेले गए मुकाबले को दुनियाभर में 50 करोड़ लोगों ने देखा था जबकि गेम ऑफ थ्रोंस के फिनाले को दुनियाभर में 1 करोड़ 93 लाख लोगों ने देखा था यानी भारत-पाक मुकाबला लोकप्रियता के मामले में गेम ऑफ थ्रोंस से 25 गुना ज्यादा है।
 
क्रिकेट के इन 2 चिर प्रतिद्वंद्वी देशों के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध पिछले कई वर्षों टूटे पड़े हैं और उनके बीच आईसीसी टूर्नामेंटों में ही मुकाबला हो पाता है। यही वजह है कि इस मैच को देखने का जुनून हदें पार जाता है। न केवल दोनों टीमों के खिलाड़ियों बल्कि प्रशंसकों में भी इस मैच को लेकर जैसे बुखार चढ़ जाता है। भारत और पाकिस्तान में तो दोनों के बीच मैच के दौरान सड़कों पर जैसे सन्नाटा पसर जाता है।
 
दोनों के बीच आखिरी बार 2017 की आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में मुकाबला हुआ था जिसमें पाकिस्तान ने भारत को हराकर खिताब अपने नाम किया था। हालांकि ग्रुप मैच में भारत ने पाकिस्तान को बुरी तरह पराजित किया था।
 
विश्व कप को देखा जाए तो भारत ने हमेशा पाकिस्तान पर जीत हासिल की है। 1975, 1979, 1983 और 1987 के विश्व कप तक दोनों के बीच टूर्नामेंट में कोई भी मुकाबला नहीं हुआ था और पहली बार विश्व कप में दोनों टीमें 1992 में आमने-सामने हुईं, जहां भारत ने 43 रनों से जीत दर्ज की।
 
भारत ने 1996 के विश्व कप में पाकिस्तान को बेंगलुरु में 39 रनों से, 1999 में मैनचेस्टर में 47 रनों से और 2003 में सेंचुरियन में 6 विकेटों से पराजित किया था। 2007 के विश्व कप में दोनों टीमों के बीच कोई मुकाबला नहीं हुआ था और दोनों ही टीमें ग्रुप चरण में बाहर हो गई थीं।
 
भारत और पाकिस्तान का 2011 के विश्व कप के सेमीफाइनल में मोहाली में मुकाबला हुआ जिसमें भारत 29 रनों से जीत गया। भारत ने 2015 के विश्व कप में पाकिस्तान को एडिलेड में 76 रनों से पराजित किया।

भारत ने विश्व कप में पाकिस्तान से अपने सभी 6 मुकाबले जीते हैं। दोनों के बीच विश्व कप रविवार को 7वां मुकाबला होगा और इस मुकाबले के दौरान दोनों टीमों की धड़कनें बढ़ी रहेंगी।
 
भारतीय कप्तान विराट कोहली का कहना है कि पहली बार खेल रहे खिलाड़ियों के लिए यह दबाव वाला मैच हो सकता है लेकिन लंबे समय से खेल रहे खिलाड़ी इसका तनाव नहीं लेते हैं और इसे एक सामान्य मैच की तरह लेकर मैदान में उतरते हैं।
 
भारत और पाकिस्तान की क्रिकेट प्रतिद्वंद्विता ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज से भी बड़ी मानी जाती है और दोनों टीमों के प्रशंसक इस मुकाबले में अपनी टीम की हार को बर्दाश्त नहीं कर पाते हैं। भारतीय कप्तान विराट बेशक इस मैच को सामान्य मैच कहें लेकिन वे भी 'जानते' हैं कि इस मैच का 'तनाव' कितना 'बड़ा' होता है।
 
भारत के पुलवामा में आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों की मौत के बाद देशभर में यह मांग उठी थी कि टीम इंडिया को पाकिस्तान के साथ विश्व कप मुकाबला नहीं खेलना चाहिए। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) का संचालन देख रही प्रशासकों की समिति ने इसका फैसला सरकार पर छोड़ दिया था।
 
पूर्व भारतीय क्रिकेटर और अब सत्तारूढ़ पार्टी के सांसद बने गौतम गंभीर ने तो इस मैच को नहीं खेलने की बात कही थी जबकि लीजेंड सचिन तेंदुलकर ने कहा था कि उन्हें इस तरह 2 अंक गंवाना मंजूर नहीं है और भारत को क्रिकेट के मैदान में पाकिस्तान को हराना ही चाहिए।
 
दोनों टीमों का मुकाबला अब महज 48 घंटे ही दूर रह गया है और इसे लेकर माहौल तेजी से गर्म होने लगा है। रविवार को यह मैच शुरू होते ही एक बार फिर दोनों देशों की सड़कों पर सन्नाटा पसर जाएगा और हार-जीत को लेकर कयास लगाए जाने लगेंगे। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख ICC World Cup 2019 : इंग्लैंड और वेस्टइंडीज मैच का ताजा हाल