ICC World Cup 2019 : हार की हैट्रिक लगाने वाले द. अफ्रीका को वेस्टइंडीज के खिलाफ वापसी का भरोसा

रविवार, 9 जून 2019 (17:00 IST)
साउथैम्प्टन। कड़े संघर्ष के बावजूद ऑस्ट्रेलिया से पिछला मैच गंवाने के बाद विंडीज क्रिकेट टीम सोमवार को हार की हैट्रिक लगा चुकी दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आईसीसी विश्व कप में वापसी के लक्ष्य के साथ उतरेगी।
 
विंडीज ने ऑस्ट्रेलिया से पिछला मैच 15 रन से गंवाया था। अच्छी शुरुआत और दमदार प्रदर्शन के बावजूद कई खराब अंपायरिंग फैसलों से वह जीत हासिल करने से चूक गई। विंडीज ने विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ 7 विकेट की जीत के साथ धमाकेदार शुरुआत की है लेकिन दूसरे मुकाबले में वह पटरी से उतर गई।
 
दूसरी ओर दक्षिण अफ्रीका अब टूर्नामेंट में लगातार 3 मैच हारकर सेमीफाइनल की होड़ से ही बाहर होने के कगार पर है। उसे पहले मैच में इंग्लैंड ने 104 रनों से हराया जबकि दूसरे मैच में कमजोर मानी जा रही बांग्लादेश ने 21 रनों से उलटफेर का शिकार बना लिया।

तीसरे मैच में उसे भारत के हाथों 6 विकेटों से हार झेलनी पड़ी। आईसीसी टूर्नामेंटों में हमेशा से 'चोकर्स' रही अफ्रीकी टीम को अब अपनी दावेदारी बरकरार रखने के लिए बाकी सभी मैचों को जीतना ही होगा।
 
फाफ डू प्लेसिस की कप्तानी वाली टीम हालांकि विश्व कप में हार की हैट्रिक लगाने के बाद भारी दबाव में है और इसका फायदा विंडीज को मिल सकता है। अफ्रीकी टीम खिलाड़ियों की चोटों से भी जूझ रही है। अनुभवी तेज गेंदबाज डेल स्टेन टूर्नामेंट से ही बाहर हो गए हैं तो लुंगी एनगिदी अनफिट हैं और उनका खेलना संदिग्ध है। टीम के गेंदबाजों और बल्लेबाजों दोनों को ही अब व्यक्तिगत तौर पर योगदान देना होगा।
 
एनगिदी के अनफिट होने के कारण कप्तान फाफ डू प्लेसिस बियूरन हैंड्रिक्स को टीम में उतार सकते हैं, जो स्टेन की जगह शामिल किए गए हैं। उनके आने से गेंदबाजी आक्रमण में कुछ मजबूती आएगी। कैगिसो रबादा पर इस समय सर्वाधिक दबाव दिख रहा है, जो लगातार अच्छा खेलने का प्रयास कर रहे हैं। पिछले मैच में 10 ओवरों में 39 रन पर 2 विकेट का उनका प्रदर्शन काबिलेतारीफ था।
 
लेकिन आईपीएल में प्रभावित करने वाले स्पिनर इमरान ताहिर और तबरेज शम्सी पिछले मैच में अहम मौकों पर विकेट नहीं निकाल सके। हालांकि ओवरऑल गेंदबाजों ने छोटे स्कोर का बचाव करने का भी प्रयास किया लेकिन टीम के बल्लेबाजों को अधिक जिम्मेदारी निभानी होगी। क्विंटन डीकॉक टीम के बड़े स्कोरर हैं लेकिन अब तक फ्लॉप रहे हैं और टीम की पिछले 3 मैचों में ओपनिंग विकेट की बड़ी साझेदारी केवल 49 रन रही है।
 
वनडे में चौथी रैंक के क्विंटन से मैच विजयी पारी की अपेक्षा है, वहीं ओपनर हाशिम अमला, कप्तान प्लेसिस वमध्यक्रम में जेपी डुमिनी को व्यक्तिगत रूप से टीम के लिए प्रदर्शन करना होगा।
 
दूसरी ओर विंडीज भी ट्रेंटब्रिज में मिली करीबी हार के बाद दबाव में दिख रही है और इस शिकस्त से उबरने का प्रयास करेगी। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ विंडीज की शुरुआत बेहतरीन रही थी और मात्र 79 रनों पर उसने विपक्षी टीम के 5 विकेट लेकर उसे दबाव में ला दिया था।
 
लेकिन मध्य ओवरों में उसके गेंदबाजों का महंगा प्रदर्शन और लक्ष्य का पीछा करने के दौरान बल्लेबाजों का खराब शॉट्स चयन भी उसके हार की वजह बना और उसे पटरी पर लौटने के लिए इन विभागों में सुधार की जरूरत होगी।

गेंदबाजों में ओशन थॉमस, कार्लोस ब्रेथवेट, आंद्रे रसेल और कार्लोस ब्रेथवेट अच्छे गेंदबाज हैं जबकि बल्लेबाजों में क्रिस गेल, एविन लुईस, शाई होप, मध्यक्रम में जेसन होल्डर महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख World Cup : गुलबदिन नाएब को स्पिनर राशिद खान की वापसी की आशा, मैच के दौरान सिर में लगी थी चोट