International Museum Day: म्यूजियम हमारे इति‍हास और उसके महत्‍व का झरोखा

सोमवार, 18 मई 2020 (06:00 IST)
म्यूजियम में कदम रखते ही हम एक दूसरी ही दुन‍िया में पहुंच जाते हैं। ऐसा लगता है हम टाइम मशीन की मदद से कई हजार साल पीछे चले गए हैं और अपने इत‍िहास को टटोल रहे हैं, उसके महत्‍व और प्राचीनता को जान रहे हैं,
समझ रहे हैं।

शायद इसीलिए म्यूजियम यानी संग्रहालयों का महत्‍व भी मानव इत‍िहास में बढ़ जाता है।

हर साल 18 मई को दुनियाभर में अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस मनाया जाता है। इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ म्यूजियम (आईकॉम) की अडवाइजरी कमिटी हर साल इस कार्यक्रम के लिए एक थीम तय करती है। इसके बाद यह कार्यक्रम किसी हफ्ते के आखिरी दिनों में या पूरे एक हफ्ते तक या फ‍िर पूरे एक महीने तक भी चलता है।

आखि‍र अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस मनाया क्यों जाता है, कब से मनाया जाता है और इससे जुड़ीं अन्य रोचक बातें जानते हैं।

दरअसल 1977 में इंटरनेशनल काउंसिल ऑफ म्यूजियम ने अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस की शुरुआत की थी। इसके बाद यह हर 18 मई को मनाया जाने लगा। खास बात यह है क‍ि पूरी दुनिया के संग्रहालय या म्यूजियम अपने-अपने देशों में यह आयोजन करते हैं। वे कार्यक्रम के दौरान संग्रहालय के महत्व को लेकर जागरूकता का प्रचार-प्रसार क‍िया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस 2019 की थीम 'सांस्कृतिक गढ़ के तौर पर संग्रहालय: परंपराओं का भविष्य' रखी गई थी। इसके पहले 2018 की थीम 'आपस में जुड़े संग्रहालय: नए दृष्टिकोण, नए लोग' थी। 2017 में 'संग्रहालय और इतिहास: अकथनीय भी कहता है संग्रहालय' थी। साल 2016 की थीम 'संग्रहालय और सांस्कृतिक परिदृश्य' थी। 2015 की थीम 'धारणीय सोसायटी के लिए संग्रहालय' थी। इस तरह हर साल इसकी थीम बदल दी जाती है।

क्‍यों है महत्‍वपूर्ण?
संग्रहालय का दरअसल काफी महत्व होता है। संग्रहालय के पास भले ही राजनीतिक शक्ति न हो लेकिन उसके पास राजनीति को प्रभावित करने की संभावना होती है। पहले संग्रहालयों में महत्वपूर्ण चीजों का संग्रह करना भंडारण करना था। अब उन्‍हें इत‍िहास के एक आर्काइव के तौर देखा जाता है। इसल‍िए अंतरराष्‍ट्र‍ीय म्यूजियम डे के द‍िन संग्रहालयों के ल‍िए मुफ्त ट्रिप का आयोजन क‍िया जाता है।

हजारों लोग और बच्‍चे इस द‍िन और आम द‍िनों में भी इसका लुत्‍फ उठाते हैं। हमारी सांस्कृतिक धरोहर, इतिहास की यादों उसके महत्‍व और प्राचीन कलाकृतियों, नक्काशियों, मूर्तिकला, अन्य चीज का संग्रह करने की वजह से म्यूजियम का महत्‍व बहुत ज्‍यादा हो जाता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आज का इतिहास : भारतीय एवं विश्व इतिहास में 18 मई की प्रमुख घटनाएं