Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

ट्रैक्टर रैली में हिंसा के बाद अमित शाह ने लिया बड़ा फैसला, पैरामिलिट्री संभालेगी मोर्चा

हमें फॉलो करें ट्रैक्टर रैली में हिंसा के बाद अमित शाह ने लिया बड़ा फैसला, पैरामिलिट्री संभालेगी मोर्चा
, मंगलवार, 26 जनवरी 2021 (21:40 IST)
नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने आंदोलनकारी किसानों और पुलिस के बीच झड़पों के बाद आज यहां एक उच्च स्तरीय बैठक में स्थिति की समीक्षा की और राजधानी में अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों की तैनाती का आदेश दिया। खबरों के अनुसार ट्रैक्टर परेड में झड़प में दिल्ली पुलिस के 83 जवान घायल हुए। इनमें 11 पुलिसकर्मियों का इलाज दिल्ली के एलएनजेपी अस्पताल में चल रहा है।
 
गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार शाह ने गृह सचिव, दिल्ली पुलिस के आयुक्त, गुप्तचर ब्यूरो के निदेशक तथा कई अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ विस्तार से स्थिति की समीक्षा की। अधिकारियों ने गृहमंत्री को राजधानी में सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति से अवगत कराया और स्थिति से निपटने की लिए उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी।
 
बैठक में राजधानी में अर्द्धसैनिक सैनिक बलों की अतिरिक्त तैनाती का निर्णय लिया गया। कुछ प्रभावित क्षेत्रों में अतिरिक्त अर्द्धसैनिक बलों को तैनात कर दिया गया है जबकि कुछ और जगहों पर तैनात किया जा रहा है।
 
आंदोलनकारी किसानों के पुलिस के साथ बनी सहमति को दरकिनार कर राजधानी में लालकिला तथा आईटीओ तक आ जाने के बाद पुलिस के साथ उनकी झड़प हो गई। इसके बाद कुछ क्षेत्रों में स्थिति कुछ समय के लिए काबू से बाहर हो गई थी।
webdunia
दिल्ली पुलिस ने कहा- किया शर्तों का उल्लंघन : दिल्ली पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारी किसानों ने ट्रैक्टर परेड के लिए पूर्व निर्धारित शर्तों पर बनी सहमति का पालन नहीं किया और हिंसा तथा तोड़फोड़ की जिसमें अनेक पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।


पुलिस ने एक बयान में यह भी दावा किया कि बल ने रैली की शर्तों के अनुपालन के लिए सभी प्रयास किए, लेकिन प्रदर्शनकारियों ने निर्धारित समय से काफी पहले ही अपना मार्च शुरू कर दिया और सार्वजनिक संपत्ति को भारी नुकसान पहुंचाया। खबरों के मुताबिक हिंसा में 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।
 
दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी ईश सिंघल ने कहा कि प्रदर्शनकारियों ने रैली के लिए निर्धारित शर्तों का उल्लंघन किया। किसानों ने निर्धारित समय से काफी पहले ही ट्रैक्टर रैली शुरू कर दी।

उन्होंने हिंसा और तोड़फोड़ की। सिंघल ने कहा कि हमने वादे के अनुरूप सभी शर्तों का पालन किया और अपने सभी प्रयास किए, लेकिन प्रदर्शन में सार्वजनिक संपत्ति को भारी नुकसान हुआ है। प्रदर्शन के दौरान अनेक पुलिसकर्मी घायल भी हुए हैं। उन्होंने हालांकि घायल पुलिसकर्मियों की संख्या नहीं बताई। 

चार प्राथमिकियां दर्ज : ट्रैक्टर परेड के जरिए प्रदर्शन कर रहे किसानों के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने 4 प्राथमिकियां दर्ज की हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को पूर्वी जिले में तीन और शाहदरा जिले में एक प्राथमिकी दर्ज की गई। गणतंत्र दिवस पर आयोजित किसानों की ट्रैक्टर परेड का लक्ष्य कृषि कानूनों को वापस लेने और फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी की मांग करना था। ट्रैक्टर परेड के दौरान हंगामा, तोड़फोड़ आदि का केन्द्र रहे आईटीओ पर ट्रैक्टर पलट जाने से एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गईं।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

IMF का अनुमान, 2021 में 11.5 प्रतिशत रहेगी भारत की आर्थिक वृद्धि दर