Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

CM केजरीवाल का आरोप, किसानों का समर्थन करने के कारण दिल्ली सरकार को दंडित कर रही केंद्र सरकार

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
रविवार, 4 अप्रैल 2021 (21:00 IST)
जींद। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को आरोप लगाया कि किसान आंदोलन का समर्थन करने के चलते भाजपा नीत केंद्र सरकार नए कानून के जरिए उनकी सरकार के संचालन में बाधाएं पैदा करके 'दंडित' करने का प्रयास कर रही है। नया कानून उप राज्यपाल को अधिक शक्तियां प्रदान करता है।

हरियाणा के जींद में आयोजित किसान महापंचायत को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि वह तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों का साथ देने के चलते कोई भी बलिदान देने को तैयार हैं।

किसान आंदोलन तथा किसानों का समर्थन करने वाले सभी लोगों को सच्चा देशभक्त करार देते हुए उन्होंने आरोप लगाया, किसानों के लिए काले कानून पास करने वाले और उन कानूनों का समर्थन करने वाले न केवल किसान विरोधी हैं बल्कि इस देश के गद्दार हैं, जिन्हें कभी माफ नहीं किया जा सकता। महापंचायत के मंच पर पहुंचते ही केजरीवाल को हल भेंट किया गया।

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा अपने पूंजीपति मित्रों को लाभ पहुंचाने के लिए लागू किए गए तीन कृषि कानूनों का विरोध करते हुए तीन सौ से अधिक किसान अपनी जान दे चुके हैं।

उन्होंने कहा कि अब हरियाणा या पंजाब ही नहीं बल्कि पूरे देशवासियों का यह फर्ज है कि वह इन किसानों की शहादत को बेकार न जाने दें इसलिए यह लड़ाई अंत तक लड़ी जाएगी। केजरीवाल ने कहा, जिस देश में किसानों का सम्मान नहीं होता वह देश कभी तरक्की नहीं कर सकता। मोदी सरकार ने यह कानून लागू करके न केवल किसानों का अपमान किया है बल्कि देश को तरक्की की राह पर जाने से रोक दिया है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा व पंजाब के किसान जब दिल्ली की सीमा पर जा रहे थे तो हरियाणा सरकार ने जगह-जगह वाटर कैनन व लाठीचार्ज करके किसानों की राह को रोकने का काम किया है। दूसरी तरफ दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने सीमा पर बैठे किसानों को पानी, शौचालय तथा मुफ्त वाई-फाई की सुविधा देकर उनका समर्थन किया है।

आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने जब आंदोलनरत किसानों का समर्थन किया तो केंद्र सरकार ने संसद में कानून पारित करके दिल्ली की चुनी हुई सरकार की शक्तियां समाप्त करके उपराज्यपाल को दे दीं।

केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने अभी केवल राजनीतिक अधिकार छीने हैं लेकिन किसानों के लिए वह बड़ी से बड़ी कुर्बानी देने से भी पीछे नहीं हटेंगे।मुख्यमंत्री ने कहा, मेरी सरकार ने छह साल दिल्ली में खूब काम किए। बसों में महिलाओं का सफर नि:शुल्क है। बिजली-पानी मुफ्त है। सड़क बन रही है।

भाजपा शक्तिशाली पार्टी है, फिर भी केजरीवाल की तरह दिल्ली जैसा एक भी स्कूल, कॉलेज, अस्पताल नहीं बनवाया, बल्कि बंद कर दिए। इतनी शक्ति भाजपा के पास है, लेकिन उसकी नीयत खराब है।उन्होंने भाजपा पर किसानों और युवाओं के खिलाफ कार्य करने का आरोप भी लगाया।(भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
पश्चिम बंगाल : तृणमूल का आरोप- प्रधानमंत्री मोदी कर रहे हैं महिलाओं का अपमान...