Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कब्ज से बचाकर पाचन तंत्र को मजबूत बनाती है लौकी-साबूदाने की खिचड़ी, व्रत के दिनों में अवश्य खाएं

webdunia
- राजश्री कासलीवाल
 
सामग्री :
 
250 ग्राम साबूदाना, पाव कटोरी मूंगफली के पिसे दाने, 100 ग्राम लौकी (घीया), आधा चम्मच जीरा, काली मिर्च पावडर आधा चम्मच, हरी मिर्च 2-3 बारीक कटी हुई, एक छोटा चम्मच शक्कर, सेंधा नमक स्वादानुसार, नींबू, बारीक कटा हरा धनिया एवं फलाहारी मिक्चर।
 
विधि :
 
खिचड़ी बनाने से 3-4 घंटे पूर्व साबूदाने को भिगो कर रख दें। लौकी को कद्दूकस करें। एक कड़ाही में घी गरम करके उसमें जीरे व हरी मिर्च का छौक लगाएं। तत्पश्चात किसी हुई लौकी डाल दें। एक-दो मिनट भूनने के बाद साबूदाने और मूंगफली के दाने डाल दें और धीमी आंच पर पकाएं। थोड़ी देर बाद नमक, काली मिर्च एवं शक्कर डालें एवं अच्छी तरह मिक्स कर लें। 
 
लीजिए तैयार है सेहतमंद लौकी-साबूदाने की खिचड़ी। हरा धनिया, फलाहारी मिक्चर और नींबू से सजाकर पेश करें। उपवास के दौरान खिचडी़ में लौकी डालने से उसका स्वाद तो बढ़ता ही है, लेकिन लौकी में फाइबर की अधिकता होने के कारण कब्जियत से भी आपका बचाव हो जाता है।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

फैशन : नहीं पहना 'लहरिया' तो हरियाली तीज पर सजना-सवरना है अधूरा