ब्रिक्स बैंक ने कोविड-19 से लड़ने के लिए भारत को 1 अरब डॉलर का कर्ज दिया

बुधवार, 13 मई 2020 (12:30 IST)
बीजिंग। ब्रिक्स देशों के न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) ने कोरोना वायरस महामारी से लड़ने के लिए भारत को 1 अरब डॉलर की आपातकालीन सहायता ऋण राशि दी है जिसका इस्तेमाल इस महामारी से होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम करने के लिए किया जाएगा।
ALSO READ: 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लिए बुनियादी ढांचा क्षेत्र का विकास महत्वपूर्ण
शंघाई स्थित एनडीबी की स्थापना ब्रिक्स देशों (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, दक्षिण अफ्रीका) ने 2014 में की थी और इस समय इसका नेतृत्व दिग्गज भारतीय बैंकर केवी कामथ कर रहे हैं। एनडीबी के निदेशक मंडल ने 30 अप्रैल को भारत के लिए 'आपातकालीन सहायता कार्यक्रम ऋण' को मंजूरी दी थी और इसका मकसद कोरोना वायरस महामारी के कारण होने वाले मानवीय, सामाजिक और आर्थिक नुकसान को कम करना है।
 
बैंक के उपाध्यक्ष और मुख्य परिचालन अधिकारी झेन झू ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा कि एनडीबी विपत्ति के समय में अपने सदस्य देशों की मदद करने के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है। तत्काल अनुरोध पर तेजी से कार्रवाई करते हुए भारत को आपातकालीन सहायता कार्यक्रम ऋण को मंजूरी दी गई।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख घर लौट रहे प्रवासी श्रमिक हुए सड़क हादसे का शिकार, मासूम समेत 3 की मौत