Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बीच पर बैठकर आराम करने के लिए छोड़ दी 68 अरब डॉलर की कंपनी, कहा- मैंने बहुत कमा लिया

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 1 जुलाई 2022 (11:37 IST)
Photo - Twitter
लंदन। कामयाबी एक ऐसा पड़ाव है, जहां पहुंचने के बाद इंसान की भूख और अधिक बढ़ने लगती है। करोड़ों की दौलत कमा लेने के बाद भी व्यक्ति यही चाहता है कि वह इससे भी ज्यादा कमाए। शेयर बाजार में इन्वेस्ट करे, महंगी गाड़ियां खरीदे और बड़ा-सा बंगला बनाए। लेकिन इसी दुनिया में एक व्यक्ति ऐसा भी है, जो ये मानता है कि उसने काफी धन कमा लिया है और अब उसने अपने पद से हटने का फैसला कर लिया है। उसका कहना है कि मैं अब केवल समुद्र तट के किनारे बैठकर आराम करना चाहता हूं।
 
दुनिया की शीर्ष फंड मैनेजमेंट कंपनियों में से एक ज्यूपिटर फंड मैनेजमेंट पीएलसी के सीईओ एंड्रयू फॉर्मिका ने 1 अक्टूबर को अपने पद से हटने का फैसला किया है। उनके इस कदम ने सभी को आश्चर्यचकित कर दिया है। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार लंदन में रहने वाले 51 वर्षीय एंड्रयू, जिनकी कुल संपत्ति 68 अरब डॉलर है, कंपनी के निदेशक के पद से अक्टूबर अंत तक इस्तीफा दे देंगे।
 
एक इंटरव्यू के दौरान एंड्रयू ने कहा कि मैं बस समुद्र तट पर बैठना चाहता हूं और कुछ नहीं करना चाहता। इसके अलावा मैं किसी और चीज के बारे में सोचना नहीं चाहता। लगभग 30 सालों से यूके में रह रहे फॉर्मिका अपने मूल देश ऑस्ट्रेलिया लौटना चाहते हैं। उनका कहना है कि मैंने ये निर्णय व्यक्तिगत कारणों से लिया है जिनमें से एक अपने माता-पिता और परिवार के साथ वक्त बिताना है।
 
फॉर्मिका ने निदेशक का पद छोड़ने से पहले यूनाइटेड किंगडम में अपने 30 साल अच्छे से बिताए। यूके के लगभग सभी प्रतिष्ठित निवेश फर्मों में उनके नाम का डंका बजता था। उन्होंने 2017 में US fund house Janus और यूके के Henderson Group के विलय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
 
एंड्रयू फॉर्मिका के इस फैसले पर दुनियाभर में लोग उनकी सराहना कर रहे हैं। उनके नाम पर बनाए गए हैशटैग (#) से ट्विटर पर लाखों लोगों ने उन्हें शुभकामनाएं दी हैं। एक यूजर ने कहा कि भाग-दौड़भरी जिंदगी में इंसान पैसों के पीछे भागने में इतना व्यस्त हो गया है कि वह खुद को ही भूल गया है। एंड्रयू ने अपने परिवार के साथ समय व्यतीत करने के लिए यह फैसला लिया है, मैं उनके इस फैसले का अभिनंदन करता हूं। वहीं एक और यूजर ने लिखा कि जीवन में सबसे बड़ा धन मन की शांति है और एंड्रयू उसे ही पाने के लिए निकले हैं, मेरी ओर से उन्हें शुभकामनाएं।
 
फॉर्मिका 2019 में इस फंड मैनेजमेंट कंपनी में शामिल हुए थे। उनके द्वारा आधिकारिक रूप से इस्तीफे की घोषणा किए जाने के बाद कंपनी ने मैथ्यू बेस्ली को डायरेक्टर पद पर नियुक्त करने का फैसला लिया है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, कहा-आपकी वजह से देश का माहौल बिगड़ा