डोनाल्ड ट्रंप को सता रहा है बहुमत खोने का डर, किया यह ऐलान

गुरुवार, 18 अक्टूबर 2018 (00:04 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिकी कांग्रेस चुनावों में हार की आशंका का सामना कर रहे राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को कहा कि नवंबर में यदि उनकी पार्टी सदन में बहुमत खो देती है तो वह इसकी जिम्मेदारी स्वीकार नहीं करेंगे। ट्रंप ने कहा कि उनके प्रचार और समर्थन ने रिपब्लिकन उम्मीदवारों की मदद की है। 
 
चुनाव के दिन से तीन हफ्ते पहले ट्रंप ने एक साक्षात्कार में कहा कि उन्हें लगता है मतदाताओं का उत्साह कम पड़ रहा है, हालांकि उन्हें आशा है कि उनके सबसे कट्टर समर्थक तब भी वोट डालेंगे। 
 
यह पूछे जाने पर कि छह नवंबर या इसके कुछ दिन बाद सदन में यदि रिपब्लिकन ने नियंत्रण खो दिया तो क्या वह इसके लिए कुछ जिम्मेदारी लेंगे। ट्रंप ने कहा, ‘नहीं, मुझे लगता है कि मैं लोगों की मदद कर रहा हूं।’ 
 
इस बारे में ट्रंप ने विस्तार से कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि किसी का भी इस तरह का प्रभाव पड़ता है। वे लोग कहते हैं कि पुराने दिनों में यदि आपको राष्ट्रपति का समर्थन प्राप्त था या यदि आपने किसी और का समर्थन पाया था तो यह बेहतर रहता था, लेकिन इसका मतलब कुछ नहीं, बिल्कुल नगण्य है। कुछ लोगों का मैंने अनुमोदन किया, उन्हें सिर्फ अनुमोदन पर 40 और 50 प्वाइंट मिल गए।’
 
ट्रंप ने कई विषयों पर अपनी बात रखी। उन्होंने एक गुमशुदा पत्रकार के मामले को लेकर बढ़ती निंदा के बीच सऊदी अरब का बचाव किया गौरतलब है कि ट्रंप प्रशासन से पत्रकार जमाल खशोगी की गुमशुदगी को लेकर सऊदी अरब पर दबाव बढ़ाने का अनुरोध किया जा रहा है। 
 
इसके बजाय ट्रंप ने अमेरिका के इस सहयोगी देश का बचाव करने की कोशिश की और किसी फैसले पर पहुंचने की जल्दबाजी के खिलाफ चेतावनी दी, जैसा कि अमेरिकी उच्चतम न्यायालय में नामित ब्रेट कैवानो के साथ किया गया था। कैवानो यौन उत्पीड़न के आरोपी थे। 
 
ट्रंप ने कहा, ‘मुझे लगता है कि हमे यह पता लगाना होगा कि आखिरकार क्या हुआ था।’ उन्होंने कहा कि आप जानते हैं कि जब तक आप दोषी नहीं ठहरा दिए जाते हैं तब तक आप बेकसूर हैं। 
 
ट्रंप अपना आधार मजबूत करने के लिए काफी सक्रियता से अभियान चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि उनका मानना है कि वह अपना काम कर रहे हैं लेकिन उन्होंने अपने किसी समर्थक से यह सुना कि वह इस नवंबर में वोट नहीं दे सकता है। 
 
उन्होंने कहा, ‘मैं कांग्रेस को पसंद करता हूं। यदि डेमोक्रेट सदन में बहुमत में आ जाते हैं और महाभियोग चलाते हैं या जांच करते हैं तो वह इससे बखूबी निबटेंगे। ट्रंप ने कहा कि वॉशिंगटन के अधिवक्ता पैट सिपोलोन व्हाइट हाउस के अगले वकील के रूप में सेवा देंगे।
 
उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी राजदूत निक्की की जगह एक नयी नियुक्ति की एक-दो हफ्तों में घोषणा करने की भी उम्मीद जताई। युद्ध नेतृत्व के सवाल पर ट्रंप ने कहा कि वह विदेशों में संघर्षरत क्षेत्रों से अमेरिकी सैनिकों को वापस नहीं लाए हैं। उन्होंने जब पद संभाला था तब के मुकाबले अधिक अमेरिकी खतरे वाले स्थानों पर तैनात हैं। 
 
उन्होंने कहा कि वे 'देश की सुरक्षा' को मजबूत करने का प्रयास कर रहे हैं। यदि ऐसे क्षेत्र हैं, जहां लोग अमेरिका के लिए खतरा पेश कर रहे हैं तो , ‘‘मैं वहां एक अवधि तक सैनिक रखने जा रहा हूं।' गौरतलब है कि ट्रंप ने पिछले साल अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों की संख्या में करीब 4000 की वृद्धि की थी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

LOADING