Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गुफा में फंसे खिलाड़ियों को बचाने गया था, ऑक्सीजन खत्म होने से गोताखोर की मौत

हमें फॉलो करें webdunia
शुक्रवार, 6 जुलाई 2018 (10:28 IST)
बैंकॉक। थाईलैंड की चिआंग राई की गुफा में फंसे 12 बच्चों और उनके कोच को निकालने के थाई और अंतरराष्ट्रीय बचाव अभियान में शामिल सेना के एक पूर्व नेवी सील समर्न कुनान (38) की ऑक्सीजन की कमी के कारण मौत हो गई।
 
 
म्यांमार सीमा के निकट स्थित चियागं राई प्रांत की गुफा में गत 23 जून से फंसे बच्चों और उनके कोच को निकालने के अभियान में शामिल होने से पूर्व समर्न ने अपने आखिरी वीडियो क्लिप में कहा था कि थैम लुआंग में रात को मिलते हैं। इस घटना के एक सप्ताह बाद थाईलैंड सेना के पूर्व नेवी सील समर्न की बच्चों को बचाने में मदद करते हुए ऑक्सीजन की कमी के कारण की मौत हो गई। इससे इसी रास्ते से युवाओं को निकालने को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं।
 
चिआंग राई के डिप्टी गवर्नर पास्साकोर्न बूनयालक ने कहा कि स्वेच्छा से मदद करने वाले एक पूर्व नेवी सील की गुरुवार रात करीब 2 बजे मौत हो गई। थाईलैंड के उत्तरी प्रांत चिआंग राय में 23 जून को लापता हुए जूनियर फुटबॉल टीम के सदस्यों के राहत और बचाव का अभियान सोमवार को उस समय खत्म होता दिखाई दे रहा था, जब ब्रिटेन और थाईलैंड के गोताखोर किसी तरह बाढ़ के पानी से भरी गुफा में बच्चों तक पहुंचने में कामयाब हो गए थे।
 
थाई सील ने कहा कि गुफा के अंदर आक्सीजन टैंक को स्थापित कर अन्य गोताखोरों के साथ वापस लौटते समय पूर्व नेवी सील बेहोश हो गया जिन्हें बचाने की कोशिश की गई लेकिन बचाया नहीं सका। यह पूछे जाने पर कि अगर एक अनुभवी गोताखोर बाहर नहीं निकल पाया तो लड़के कैसे सुरक्षित बाहर निकल पाएंगे? इस पर नेवी सील ने कहा कि वे बच्चों के साथ ज्यादा एहतियात बरतेंगे।
 
वीडियो क्लिप में समर्न अपनी पुरानी इकाई के साथ लड़कों को ढूंढने में मदद करने के लिए उत्सुक दिखाई दे रहे थे। उन्होंने थाई सेना गोताखोरों को उपनाम से पुकारते हुए कहा कि हम फ्रोग टीम के साथ सहयोग कर रहे हैं। हमारे पास नौसेना की चिकित्सा टीमें और गोताखोर हैं।
 
सील इकाई ने अपने पुराने कामरेड को श्रद्धांजलि अर्पित की है। इकाई ने एक वक्तव्य में कहा कि वह एक एथलीट था। वह साहसिक खेल से प्यार करता था, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि समर्न ने अपने जीवन के अंत में फ्रॉग गतिविधियों में किस प्रकार भाग लिया। वर्ष 2006 में समर्न ने बैंकॉक के मुख्य सुवर्ण भूमि हवाई अड्डे पर आपातकालीन बचाव अधिकारी के रूप में काम करने के लिए नेवी सील इकाई छोड़ दी थी।
 
थाईलैंड में अमेरिकी राजदूत गलीन टी. डेविस ने समर्न के परिवार के प्रति गहरा शोक व्यक्त किया है। उन्होंने एक बयान में कहा कि अमेरिकी लोगों की ओर से मैं आपके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और अपने देश की सेवा में अपनी सच्ची बहादुरी और निःस्वार्थता की सराहना करता हूं।
 
गौरतलब है कि थाईलैंड की अंडर-16 फुटबॉल टीम के 12 बच्चे और उनके 25 वर्षीय कोच 23 जून से वहां फंसे हुए हैं। ऐसा अनुमान है कि उन्होंने भारी बारिश की वजह से गुफा में शरण ली थी और बारिश की वजह से गुफा का प्रवेश द्वार अवरुद्ध हो गया। इन बच्चों की उम्र 11 से 16 साल के बीच है। (वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

छेड़छाड़ और ब्लैकमेलिंग से परेशान थी छात्रा, तीन दिन तक पुलिस के चक्कर लगाने के बाद दी जान