विदेशी निवेशकों ने एशियाई अर्थव्यवस्थाओं से निकाले 26 अरब डॉलर, भारत से सिर्फ 16 अरब डॉलर

बुधवार, 20 मई 2020 (12:15 IST)
वॉशिंगटन। कोरोना वायरस महामारी के कारण वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच विदेशी निवेशकों ने एशियाई अर्थव्यवस्थाओं से लगभग 26 अरब अमेरिकी डॉलर और भारत से 16 अरब अमेरिकी डॉलर निकाले। अमेरिकी कांग्रेस की एक रिपोर्ट में यह बात कही गई।
ALSO READ: Corona crises : वैश्विक अर्थव्यवस्था को हो सकता है 8,800 अरब डॉलर का नुकसान
अमेरिकी कांग्रेस के स्वतंत्र शोध केंद्र ने कोविड-19 के वैश्विक आर्थिक प्रभावों के बारे में अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा कि विदेशी निवेशकों ने विकासशील एशियाई अर्थव्यवस्थाओं से लगभग 26 अरब डॉलर और भारत से 16 अरब डॉलर से अधिक राशि बाहर निकाली।
 
रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोप में जर्मनी, फ्रांस, ब्रिटेन, स्पेन और इटली में 3 करोड़ से अधिक लोगों ने सरकारी सहायता के लिए आवेदन किया है। वर्ष 2020 की पहली तिमाही के आंकड़ों से संकेत मिलता है कि यूरोक्षेत्र की अर्थव्यवस्था में 3.8 प्रतिशत की कमी हुई है, 1995 से अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है।
ALSO READ: Lockdown के बीच अब अर्थव्यवस्था की चिंता, मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक
रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में 2020 की पहली तिमाही में सकल घरेलू उत्पाद में 4.8 प्रतिशत की गिरावट आई है, जो 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद सबसे बड़ी गिरावट है। शोध केंद्र की रिपोर्ट के अनुसार लगभग सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं कोरोना वायरस के प्रकोप से नुकसान में हैं, लेकिन केवल 3 देशों चीन, भारत और इंडोनेशिया की विकास दर 2020 में सकारात्मक रहने का अनुमान है। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख लगातार 5वें दिन पाक सेना ने LOC पर की गोलाबारी, भारतीय सेना ने दिया करारा जवाब