Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Live Updates : अफगानिस्तान के पंजशीर में तेज हुई लड़ाई, तालिबान ने तैनात की तोपें

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 25 अगस्त 2021 (11:06 IST)
अफगानिस्तान में तालिबान ने दिया एयरलिफ्ट की तय समय सीमा के पालन पर जोर, कोरोनावायरस, नारायण राणे को जमानत समेत इन खबरों पर रहेगी सबकी नजर...


11:11 AM, 25th Aug
-पंजाब में फिर बढ़ी कैप्टन की मुश्किल।
-पंजाब के 4 बागी मंत्री और 3 विधायक देहरादून पहुंचे। पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत से करेंगे मुलाकात।
-हरीश रावत से मुलाकात के बाद बागी नेता दिल्ली पहुंचेंगे।

10:55 AM, 25th Aug
webdunia
-पंजशीर में तेज हुई लड़ाई, तालिबान और नॉर्दन एलायंस आमने-सामने।
-तालिबान ने तैनात की तौपे, नॉर्दन एलायंस भी जंग के लिए तैयार।

09:44 AM, 25th Aug
webdunia
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने कहा कि अफगानिस्तान से 31 अगस्त तक अमेरिकी सैनिकों की वापसी का अभियान तेजी से चल रहा है, लेकिन इसका तय समय सीमा पर पूरा होना तालिबान के सहयोग पर निर्भर करेगा। काबुल के हामिद करजई अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर अमेरिका के अभी करीब 5800 सैनिक हैं।
 
बाइडन ने कहा कि अभी हम 31 अगस्त तक निकासी अभियान पूरा करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। हम जितनी जल्दी इसे पूरा करेंगे, उतना अच्छा है। अभियान में हर दिन हमारे सैनिकों के लिए जोखिम बढ़ रहा है। लेकिन 31 अगस्त तक इसका पूरा होना तालिबान के सहयोग जारी रखने, लोगों को हवाईअड्डे तक पहुंचने की अनुमति देने और हमारे अभियानों में बाधा उत्पन्न ना करने पर निर्भर करता है।

08:47 AM, 25th Aug
-नारायण राणे को नासिक पुलिस का नोटिस
-2 सितंबर को पूछताछ के लिए बुलाया।

08:05 AM, 25th Aug
webdunia
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी के आरोप में गिरफ्तार किए गए केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मंगलवार रात रायगढ़ जिले में महाड की एक अदालत ने जमानत दे दी। 30 अगस्त और 6 सितंबर को रायगढ़ में पेश होने को कहा गया है। पहले कोर्ट ने राणे को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश दिया था।

07:59 AM, 25th Aug
webdunia
तालिबान ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा कि अमेरिका द्वारा विमान के जरिये अफगानिस्तान से लोगों को ले जाने की कार्रवाई 31 अगस्त तक खत्म हो जानी चाहिए। इससे, पहले ही निकासी के लिए बना अफरा-तफरी का माहौल और गंभीर हो सकता है क्योंकि उत्पीड़न की नई खबरों से देश छोड़कर जाने के इच्छुक हजारों लोगों की धड़कनें और बढ़ गई हैं

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अफगानिस्तान से सिख धर्म का नाता कितना है पुराना?