Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

जवाहिरी के मारे जाने पर बोले ओबामा कि युद्ध के बिना भी आतंकवाद को समाप्त किया जा सकता है

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 2 अगस्त 2022 (16:40 IST)
वॉशिंगटन। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मंगलवार को कहा कि अल कायदा सरगना अयमान अल जवाहिरी के मारे जाने के बाद जारी अपने बयान में कहा कि अमेरिकी ड्रोन हमले में जवाहिरी का मारा जाना इस बात का सबूत है कि युद्ध के बिना भी आतंकवाद को समाप्त किया जा सकता है।
 
पूर्व राष्ट्रपति ने इसके साथ ही अमेरिका में हुए आतंकवादी हमलों के एक मास्टरमाइंड को सजा देने और इस अभियान में किसी नागरिक के हताहत नहीं होने के लिए अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन की सराहना भी की। अमेरिका पर 11 सितंबर 2001 को हुए हमलों की साजिश अल-ज़वाहिरी और ओसामा बिन-लादेन ने मिलकर रची थी। ओसामा बिन-लादेन को अमेरिका ने 2011 में पाकिस्तान के ऐबटाबाद में एक अभियान में मार गिराया था। ज़वाहिरी अमेरिकी कार्रवाई में ओसामा बिन-लादेन के मारे जाने के बाद अल-कायदा का सरगना बना था।
 
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को घोषणा की कि केंद्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए) द्वारा काबुल में शनिवार शाम किए गए ड्रोन हमले में ज़वाहिरी मारा गया। ज़वाहिरी काबुल स्थित एक मकान में अपने परिवार के साथ छिपा था। अधिकारियों ने बताया कि जिस वक्त मकान पर ड्रोन हमला हुआ, जवाहिरी बालकनी में खड़ा था।
 
ओबामा ने ट्वीट किया कि आज रात की खबर इस बात का भी सबूत है कि अफगानिस्तान में युद्ध लड़े बिना भी आतंकवाद को समाप्त करना संभव है। और मुझे उम्मीद है कि यह 9/11 के हमले में मारे गए लोगों के परिवारों और उन सभी को कुछ राहत पहुंचाएगा, जो अल कायदा के हाथों प्रताड़ित हुए हैं।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

केरल में मंकीपॉक्स का 5वां मामला