Green Card पर अमेरिकी सरकार दे सकती है भारतीयों को बड़ा तोहफा, अमेरिका में बढ़ेंगे नौकरियों के अवसर...

शनिवार, 9 फ़रवरी 2019 (11:45 IST)
ग्रीन कार्ड (स्थाई निवास का कार्ड) संबंधी कानून में संशोधन के लिए अमेरिकी संसद के दोनों सदनों में एक ही तरह के दो विधेयक पेश किए गए हैं। अगर ये विधेयक पारित हो गए तो अमेरिका की स्थाई नागरिकता का इंतजार कर रहे हजारों भारतीय प्रोफेशनल्स को बड़ा फायदा मिलेगा। इस प्रस्तावित विधेयक से अन्य देशों के प्रवासियों में हलचल मच गई है। हर साल एच1बी और एल वीजा पर सबसे ज्यादा भारतीय अमेरिका जाते हैं।

अगर अमेरिका में यह कानून लागू हो जाता है तो प्रत्‍येक देश के हिसाब से ग्रीन कार्ड जारी करने की वर्तमान में लागू संख्या सीमा को समाप्‍त किया जा सकता है। इस संबंध में अमेरिकी संसद में पेश किए गए बिल के पास हो जाने की उम्मीद है क्योंकि दोनों पार्टियां इसके समर्थन में हैं।
 
तकनीक आधारित कंपनियां इस विधेयक के समर्थन में हैं, क्योंकि इससे उन्हें ज्यादा से ज्यादा संख्या में भारतीय इंजिनियर्स और सॉफ्टवेयर डेवलपर्स की नियुक्ति करने में आसानी होगी। क्‍योंकि ग्रीन कार्ड की सीमित संख्या होने के कारण अमेरिका में आबादी वाले देश जैसे कि भारत और चीन के नागरिकों को अमूमन कम ही नागरिकता मिल पाती है और इसकी तुलना में दूसरे देश के नागरिकों को आसानी से स्थाई नागरिकता मिल जाती है।

अमेरिकी संसद में किसने पेश किया विधेयक : सबसे पहले रिपब्लिक पार्टी के सांसद माइक ली और डेमोक्रेटिक सांसद कमला हैरिस द्वारा फेयरनेस फोर हाई स्किल्ड इमिग्रेंट्स एक्ट 2019 पेश किया गया। इसी तरह का एक अन्य विधेयक फेयरनेस फोर हाई स्किल्ड इमिग्रेंट्स एक्ट (एचआर 1044) सांसदों जोए लॉफग्रेन और केन बक ने हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स में पेश किया गया। इस प्रस्तावित विधेयक से अन्य देशों के प्रवासियों में हलचल मच गई है। हर साल एच1बी और एल वीजा पर सबसे ज्यादा भारतीय अमेरिका जाते हैं।
 
विधेयक में हैं यह प्रस्ताव : विधेयक में हर देश के हिसाब से ग्रीन कार्ड पर लगी अधिकतम सीमा समाप्त करने का प्रस्ताव है। अभी अमेरिका प्रतिवर्ष करीब 140000 लोगों को ग्रीन कार्ड देता है, हालांकि मौजूदा नियमों के अनुसार इनमें से किसी भी एक देश के लोगों को 7 फीसदी से अधिक ग्रीन कार्ड नहीं दिए जा सकते। अगर ये विधेयक पारित हो गया और कानून बन गया तो एच-1बी वीजाधारक हजारों भारतीय पेशेवरों को फायदा होगा।
 
अभी इतने लोगों के पास है ग्रीन कार्ड : डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी (डीएचएस) की एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले दो साल में ग्रीन कार्ड धारकों की संख्या घटी है। 2015 में 64116 भारतीयों को वैध स्थाई निवास के लिए ग्रीन कार्ड जारी किया गया, जबकि 2017 में 64687 ग्रीन कार्ड जा‍री किए गए। 2017 में 1127167 विदेशियों को अमेरिका ने ग्रीन कार्ड जारी किए, जबकि 2016 में 1183505 और 2015 में 1051031 लोगों को कार्ड जारी हुए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख पीएम मोदी बदल देंगे वाराणसी की तस्वीर, शहर को मिलेगी 2000 करोड़ की सौगात