पुलवामा हमले पर ट्रंप ने जताई चिंता, कहा- भारत और पाकिस्तान के बीच हालात खतरनाक

शनिवार, 23 फ़रवरी 2019 (07:31 IST)
वॉशिंगटन। पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्‍तान के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पाकिस्तान को अलग थलग करने के लिए हर प्रयास किए जा रहे हैं। दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंचता दिखाई दे रहा है। इस बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी पुलवामा हमले पर चिंता जताते हुए कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच खतरनाक हालात बन गए हैं।
 
ट्रंप ने ओवल ऑफिस में पत्रकारों से कहा, इस समय भारत और पाकिस्तान के बीच हालात बेहद खराब हैं। यह बेहद खतरनाक स्थिति है। हम चाहेंगे कि यह (शत्रुता) समाप्त हो जाए। काफी लोग मारे गए हैं। हम इसे बंद होते देखना चाहते हैं। हम इसमें (प्रक्रिया में) काफी हद तक शामिल हैं। 
 
अमेरिकी राष्ट्रपति ने यह बात बीते हफ्ते जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में कही, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।
 
ट्रंप ने कहा कि भारत किसी ठोस निर्णय पर विचार कर रहा है। भारत ने हमले में अपने 50 लोगों को खोया है। मैं भी इस बात को समझ सकता हूं। उन्होंने कहा कि उनका प्रशासन दोनों देशों के अधिकारियों से बातचीत कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम बात कर रहे हैं। बहुत से लोग हैं। यह एक बहुत ही नाजुक संतुलन होगा। जो कुछ हुआ है उसके कारण भारत और पाकिस्तान के बीच बहुत सारी समस्याएं हैं। 
 
राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिका ने पाकिस्तान के साथ संबंधों में सुधार किया है और पाकिस्तान के नेताओं और अधिकारियों के साथ बैठकों के लिए काम किया जा रहा है।
 

US Pres: India is looking at something very strong. India just lost almost 50 people. A lot of people are talking. But it's a very very delicate balance going on. Right now there's a lot of problem b/w India&Pakistan because of what just happened in Kashmir. It's very dangerous. https://t.co/03PWXSnSlW

— ANI (@ANI) February 23, 2019

ट्रंप ने कहा कि मैंने पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान करना बंद कर दिया, जो हम उन्हें दिया करते थे। इस बीच, हम पाकिस्तान के साथ कुछ बैठकें कर सकते हैं। पाकिस्तान ने अन्य अमेरिकी राष्ट्रपतियों के शासनकाल में अमेरिका का बहुत फायदा उठाया है। हम हर साल पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान कर रहे थे। ट्रंप ने कहा कि मैंने उस भुगतान को समाप्त कर दिया, क्योंकि वे उस तरह से हमारी मदद नहीं कर रहे थे, जैसी उन्हें करनी चाहिए थी।

उल्लेखनीय है कि कि 14 फरवरी को CRPF के काफिले पर हुए आतंकी हमले में 40 सीआरपीएफ जवान शहीद हो गए थे। इस हमले की जिम्मेदारी पाकिस्तान स्थिति आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने ली थी। 
 
इस बीच पुलवामा हमले के बाद अंतरराष्ट्रीय समुदाय की नाराजगी झेल रहे पाकिस्तान ने आतंकवादियों के खिलाफ सख्ती शुरू कर दी है। गुरुवार को हाफिज सईद के संगठनों को बैन करने के बाद शुक्रवार को पाकिस्तानी सरकार ने मसूद अजहर के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के हैडक्वॉर्टर पर नियंत्रण कर लिया।
ट्रंप ने कहा कि मैंने पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान करना बंद कर दिया, जो हम उन्हें दिया करते थे। इस बीच, हम पाकिस्तान के साथ कुछ बैठकें कर सकते हैं। पाकिस्तान ने अन्य अमेरिकी राष्ट्रपतियों के शासनकाल में अमेरिका का बहुत फायदा उठाया है। हम हर साल पाकिस्तान को 1.3 अरब अमेरिकी डॉलर का भुगतान कर रहे थे। ट्रंप ने कहा कि मैंने उस भुगतान को समाप्त कर दिया, क्योंकि वे उस तरह से हमारी मदद नहीं कर रहे थे, जैसी उन्हें करनी चाहिए थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख भंवरी देवी सहित देशभर से आईं हजारों यौन पीड़िताओं ने की आवाज बुलंद, मार्च निकाला