Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

चेन्नई और जड़ेजा के बीच सब ठीक है, अगले साल फिर खेल सकते हैं धोनी की कप्तानी में

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 21 मई 2022 (18:32 IST)
चेन्नई: आईपीएल के गत विजेता चेन्नई सुपर किंग्स और उनके समर्थकों के लिए एक बड़ी ख़ुशी की बात है कि महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर अगले साल चार बार विजयी रह चुकी टीम में दिख सकते हैं। यही नहीं 41 वर्षीय धोनी शायद इस फ़्रैंचाइज़ी की कप्तानी भी करते दिखेंगे।

कप्तानी बदलने का नतीजा चेन्नई सुपर किंग्स एक बार भुगत चुकी है।जडेजा की अगुवाई में चेन्नई ने आठ में से छह मैच गंवाये। इस बीच देश के सबसे भरोसेमंद ऑलराउंडर की बल्लेबाजी, गेंदबाजी और क्षेत्ररक्षण पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ा।

2022 का सीज़न चेन्नई के लिए निराशाजनक रहा है और वह प्लेऑफ़ की दौड़ से बाहर होने वाली दूसरी टीम है। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है कि धोनी ने टीम प्रबंधन से अगले साल उपलब्ध होने की बात की है और यह भी बताया है कि वह कप्तानी करेंगे। साथ ही कप्‍तानी छोड़ने के बाद चो​टिल होने के बाद इस सीज़न से बाहर हुए हरफ़नमौला रवींद्र जडेजा भी 2023 आईपीएल के लिए टीम में लौटेंगे। उनके बाहर जाने के तरीक़े से अफ़वाहों का बाज़ार गर्म हो गया था।

मीडिया में यह खबर भी खासी चल रही थी कि रविंद्र जड़ेजा ने चेन्नई सुपर किंग्स का इंस्टाग्राम अकाउंट अनफोलो कर लिया है। तब ही से ऐसा सुगबुगाहट थी कि शायद रविंद्र जड़ेजा अब चेन्नई की ओर से नहीं खेले।
webdunia

सीज़न के शुरुआत में चेन्नई ने जिन चार खिलाड़ियों को रिटेन किया था उनमें ये दोनों सबसे प्रमुख थे। जहां जडेजा को 16 करोड़ रुपयों की राशि में सबसे पहले टीम में रखा गया था तो वहीं धोनी 14 करोड़ के साथ दूसरे नंबर के पिक थे।

इस सीज़न के नौवें मैच से पहले जडेजा ने कप्तानी त्यागने का फ़ैसला किया था और सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ धोनी पुन: चेन्नई के लिए टॉस में दिखे थे। जब डैनी मॉरिसन ने उनसे पूछा कि क्या वह अगले सीज़न फिर से चेन्नई की पीली जर्सी में खेलते दिखेंगे तो उन्होंने कहा था, "आप मुझे ज़रूर पीली जर्सी में देखेंगे लेकिन यह वाली या कोई और इसके लिए आपको इंतज़ार करना पड़ेगा।"

जडेजा के कप्तानी से हटने और फिर टीम से हट जाने पर चेन्नई की दीर्घावधि में कप्तानी के विकल्पों पर काफ़ी बातचीत होती रही है। धोनी ने ख़ुद जडेजा के बचाव में हैदराबाद के साथ मैच के बाद कहा था, "जब आप कप्तान बन जाते हो, तो कई चीज़ें आपके दिमाग़ को प्रभावित करती हैं। मुझे लगता है कि कप्तानी से उनकी तैयारी और प्रदर्शन प्रभावित हुआ। एक खिलाड़ी से कप्तान बनना एक धीमी प्रक्रिया होती है। आपको मैच के महत्वपूर्ण क्षणों में अपनी ज़िम्मेदारी लेते हुए कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लेने होते हैं। जब आप कप्तान बन जाते हैं तो आपको अपने खेल के अलावा भी कई चीज़ों पर ध्यान देना होता है। जडेजा इतना दबाव ले रहे थे कि उनसे कैच छूटने लगे थे। अमूमन ऐसा नहीं होता है।"
webdunia

पिछले साल अक्तूबर में आईपीएल ख़िताब जीतने के बाद चेन्नई के मालिक एन श्रीनिवासन ने कहा था कि धोनी चेन्नई का ही नहीं पूरे तमिलनाडु का "अभिन्न हिस्सा" हैं और रहेंगे। उन्होंने कहा था, "धोनी के बिना कोई सीएसके नहीं और सीएसके के बिना कोई धोनी नहीं।"

उसके एक महीने बाद जब टीम का सम्मान समारोह आयोजित किया गया था तब उन्होंने कहा था, "लोग उन्हें परेशान करते रहते हैं कि 'क्या आप खेलना जारी रखेंगे?' अरे वह हमारे साथ ही हैं और कहीं नहीं जा रहे। ऐसे में मैं ख़ुश हूं कि जब उनसे पूछा जाता है कि आप क्या उत्तरदान छोड़ कर जा रहे हैं तो उनका जवाब हमेशा होता है, 'मैं कहीं गया ही नहीं।'"

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

#RedTurnsBlue मुंबई को चियर करने के लिए लाल से नीले रंग में रंग गई बैंगलोर, बदली ट्विटर DP