Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Reliance Jio : रिलायंस जियो ने 5G से जुड़े स्मार्ट सॉल्युशन्स किए प्रदर्शित, बताई True 5G खूबियां

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 14 नवंबर 2022 (18:48 IST)
कोलकाता। Reliance Jio News : पश्चिम बंगाल सरकार के आईटी विभाग और केंद्र सरकार के दूरसंचार विभाग ने कोलकाता में एक वर्कशॉप आयोजित की। एकदिवसीय इस वर्कशॉप में मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो  (Reliance Jio) ने कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा, स्मार्ट ऑफिस जैसे क्षेत्रों से जुड़े कई नए 5जी स्मार्ट सॉल्युशन्स को प्रदर्शित किया। जियो अकेली कंपनी है जिसने कोलकाता में 5जी नेटवर्क मुहैया कराया है।
 
दरअसल, रिलायंस जियो ने यहां एक 5जी एक्सपीरियंस सेंटर बनाया है। जहां ट्रू5जी से जुड़ी हर जानकारी दी जा रही है। राज्य के सरकारी अधिकारी 5जी के नए उपयोगों को देख सकें और उनको जमीन पर उतारने की योजना तैयार कर सकें इसलिए इस वर्कशॉफ को काफी महत्व दिया जा रहा है। 
 
कंपनी का दावा है कि दिसंबर अंत तक पूरे कोलकाता में 5जी नेटवर्क के सिग्नल मिलने लगेंगे। जियो पूरे पश्चिम बंगाल में चरणबद्ध तरीके से रोलआउट कर रहा है। रिलायंस जियो पश्चिमी बंगाल के सिलिगुड़ी शहर में 5जी लॉन्च की तैयारी कर रहा है। राज्य में कोलकत्ता के बाद सिलिगुड़ी जियो के ट्रू5जी नेटवर्क से जुड़ने वाला दूसरा शहरा होगा।
 
कोलकाता में जियो के वेलकम ऑफर के तहत ग्राहकों को आमंत्रित किया जा रहा है। इस ऑफर में ग्राहकों को बिना किसी अतिरिक्त कीमत के 1 जीबीपीएस+ स्पीड और अनलिमिटेड 5जी डेटा मिलता है। वेलकम ऑफर के तहत ग्राहक डेटा का भी काफी अधिक मात्रा में उपयोग कर रहे हैं। कंपनी का दावा है कि यह भारत का एकमात्र ट्रू5जी नेटवर्क है और उसने अपने ट्रू 5जी नेटवर्क की कई खूबियां गिनाई हैं।
 
  •  स्टैंड-अलोन 5G आर्किटेक्चर नेटवर्क, जिसकी 4G नेटवर्क पर निर्भरता शून्य है। 
  • 700 मेगाहर्ट्ज, 3500 मेगाहर्ट्ज और 26 गीगाहर्ट्ज बैंड में 5जी स्पेक्ट्रम का सबसे बड़ा और बेहतरीन मिश्रण है।
  • करियर एग्रीगेशन तकनीक का उपयोग करके जियो इन 5G फ्रीक्वेंसी का एक मजबूत 'डेटा हाईवे' तैयार करती है।
  Edited by Sudhir Sharma

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

क्या आदिवासी हिन्दू नहीं हैं? भाजपा को क्यों लिखना पड़ा आमी आखा हिन्दू छे!