ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों का Corona डर निकला, विदेशी टूर्नामेंटों में खेलने के लिए तैयार

मंगलवार, 14 जुलाई 2020 (20:50 IST)
नई दिल्ली। कोविड-19 महामारी के कारण लंबे समय तक खेल से दूर रहने के बाद अब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटरों का डर निकल गया है। डेन क्रिश्चियन के अलावा ऑस्ट्रेलिया के कई क्रिकेट खिलाड़ी अब विदेशी टूर्नामेंटों में खेलने के लिए तैयार है।
 
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की वेबसाइट पर प्रकाशित खबर के मुताबिक हरफनमौला क्रिश्चियन इंग्लैंड रवाना होंगे, जहां उन्हें घरेलू सत्र शुरु होने के बाद टी20 टूर्नामेंट में नॉटिंघमशायर का प्रतिनिधित्व करना है। 37 साल के क्रिश्चियन को इंग्लैंड रवाना होने के लिए सरकार से हरी झंडी मिलने का इंतजार है।
 
क्रिश्चियन के अलावा मार्नुस लाबुशेन, मैथ्यू वेड, ग्लेन मैक्सवेल और ट्रेविस हेड सहित ऑस्ट्रेलिया के कुल18 खिलाड़ियों का काउंटी टीमों से करार है। क्रिश्चियन के अलावा हालांकि सभी के करार को रद्द या स्थगित कर दिया गया।
 
इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने घोषणा की है कि घरेलू क्रिकेट 1 अगस्त से शुरू होगा लेकिन अभी तारीखों की पुष्टि नहीं की है। ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को हालांकि ‘ट्रैवल कॉरिडोर छूट’ के कारण 14 दिनों तक पृथकवास में रहने की जरूरत नहीं होगी।
 
ऑस्ट्रेलिया के 5 खिलाड़ियों को कैरेबियाई प्रीमियर लीग (CPL) के लिए चुना गया है। टूर्नामेंट के आयोजकों को त्रिनिदाद एवं टोबैगो सरकार ने आयोजन की अनुमति दे दी है। यह टूर्नामेंट 18 अगस्त से शुरू होगा।
सीपीएल की नीलामी में जिन ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के लिए फ्रेंचाइजी टीमों ने बोली लगाई, उसमें मार्कस स्टोनिस (बारबाडोस ट्रिडेंट्स), क्रिस लिन, बेन डंक (सेंट किट्स एवं नेविस पैट्रियट्स), फवाद अहमद (ट्रिनबागो नाइट राइडर्स) और क्रिस ग्रीन (गुयाना अमेजॉन वारियर्स) शामिल है।
 
सीपीएल के नियमों के मुताबिक विदेशी खिलाड़ियों के त्रिनिदाद एवं टोबैगो आने के बाद 14 दिनो तक क्वारेंटाइन में रहना होगा। ऑस्ट्रेलिया के कोच जस्टिन लैंगर ने टीम के सितंबर में इंग्लैंड दौरे का समर्थन करते हुए उम्मीद जताई कि इंग्लैंड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों के लिए प्रतिबंधों में छूट दी जाएगी।
 
लैंगर ने न्यूज कॉर्प से कहा, वहां पर अभी भी कौन खेल सकता है और कौन नहीं, इसे लेकर काफी सख्त प्रतिबंध हैं। उन्होंने कहा, अगर वे इस मुद्दे का निपटारा करते हैं तो उन्हें सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी मिलेंगे और खिलाड़ी भी जहां संभव है, वहां क्रिकेट खेल सकेंगे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बेन स्टोक्स के बारे में बड़ा खुलासा, विश्व कप के 'सुपर ओवर' से पहले लिया था ‘सिगरेट ब्रेक’