Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दूसरे टी-20 में कार्तिक को अक्षर से नीचे भेजने की भूल क्या आज सुधारेगा भारत

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 14 जून 2022 (13:37 IST)
दूसरे टी-20 में भारत के बल्लेबाजों ने दोहरी गति वाली पिच पर सिर्फ 148 रन बनाए थे। टीम के बल्लेबाज रन बनाने में संघर्षकर रहे थे। इसका अंदाजा इस ही बात से लगाया जा सकता है कि टीम ने सिर्फ 10 चौके और 5 छक्के लगाए।

आईपीएल 2022 में दिनेश कार्तिक ने अपनी बल्लेबाजी का लोहा मनवाया लेकिन हार्दिक पांड्या के आउट होने के बाद दिनेश कार्तिक की जगह अक्षर पटेल आए और उन्होंने गेंद भी इस्तेमाल की और रन भी नहीं बनाए। टीम के इस निर्णय की खासी आलोचना हो रही है।

ऐसे वक्त पर जब टीम को ज्यादा से ज्यादा रनों की दरकार थी टीम ने एक रक्षात्कमक निर्णय लिया और अक्षर पटेल को पिच पर भेजा। पहले से ही अपनी कप्तानी के लिए आलोचना झेल रहे ऋषभ पंत ने अपने फैंस को नाराज करने का एक और कारण दे दिया।

13वें ओवर में चौथी विकेट गंवाने के बाद अक्षर पटेल, कार्तिक से पहले बल्लेबाज़ी करने आए। अक्षर ने 11 गेंदों पर 10 रन बनाए। पारी में 37 गेंदें शेष रहते हुए कार्तिक क्रीज़ पर आए लेकिन उन्हें भी तेज़ी से रन बनाने में परेशानी हुई। एक समय पर 16 गेंदें खेलने के बाद उन्होंने केवल नौ रन बनाए थे। हालांकि अंत में बड़े शॉट लगाने के कारण उनका अंतिम स्कोर 21 गेंदों पर नाबाद 30 रन था।
webdunia

हालांकि अक्षर पटेल को दिनेश कार्तिक से पहले बल्लेबाजी के लिये भेजना भले ही अजीब लगे लेकिन शीर्ष क्रम के बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टी20 में लिये गये इस फैसले का बचाव करते हुए कहा कि एक दो रन चुराने (स्ट्राइक रोटेट करने) के लिये परिस्थितियों को देखकर ऐसा किया गया।

यह रणनीति कारगर नहीं रही तथा अक्षर रन बनाने के लिये जूझते रहे। उनके 17वें ओवर में आउट होने से भारत का स्कोर छह विकेट पर 112 रन हो गया। सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिये उतरे कार्तिक के नाबाद 30 रन से भारत छह विकेट पर 148 रन तक पहुंच पाया।

श्रेयस ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘‘हमने पहले भी ऐसी रणनीति अपनायी थी। अक्षर जब क्रीज पर उतरा तो हमारे पास सात ओवर बचे थे। वह एक दो रन ले सकता है और स्ट्राइक रोटेट कर सकता है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसके अलावा तब किसी को क्रीज पर उतरकर पहली गेंद से हिट करने की आवश्यकता नहीं थी। डीके (कार्तिक) ऐसा कर सकता है, लेकिन वह 15 ओवर के बाद हमारे लिये अधिक फायदेमंद रहा है, जहां वह क्रीज पर उतरते ही लंबे शॉट खेल सकता है।’’
webdunia

श्रेयस ने तर्क दिया कि यहां तक ​​​​कि कार्तिक को भी इस विकेट पर रन बनाने के लिये जूझना पड़ा था।उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक ​​कि शुरुआत में उन्हें (कार्तिक) भी रन बनाने में थोड़ी मुश्किल हुई। इस मैच में विकेट ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई। जहां तक इस रणनीति का सवाल है तो हम आगे भी इसे अपनाएंगे।’’

कार्तिक को यदि पहले भेजा जाता तो भारत 160 रन से अधिक का स्कोर कर सकता था और श्रेयस ने भी स्वीकार किया कि आखिर में लगभग 12 रन कम पड़ गये।उन्होंने कहा, ‘‘अगर मैच पर गौर करें तो मुझे लगता है कि इस विकेट पर 160 रन का स्कोर थोड़ा दबाव में डालने के लिये वास्तव में अच्छा होता, लेकिन हम उससे 12 रन कम थे।’’दक्षिण अफ्रीका ने हेनरिक क्लासेन के 81 रन की मदद से चार विकेट से जीत दर्ज करके पांच मैचों की श्रृंखला में 2-0 से बढ़त बनाई।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

राहुल द्रविड़ के दोस्त वीवीएस लक्ष्मण बने टीम इंडिया के टी-20 कोच!