Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Thank You Mithali, क्रिकेट के तमाम रिकॉर्ड्स को याद कर फैंस ने दी महिला कप्तान को विदाई

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 8 जून 2022 (16:03 IST)
नई दिल्ली:महिला क्रिकेट की महानतम खिलाड़ियों में से एक मिताली राज ने दो दशक लंबे शानदार करियर के बाद बुधवार को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की।

मिताली ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में 232 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में रिकॉर्ड 7805 रन बनाए। उन्होंने 12 टेस्ट और 89 टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया।राजस्थान की इस क्रिकेटर ने दो दशक से अधिक समय तक बल्ले से अपने शानदार प्रदर्शन की बदौलत दिग्गज खिलाड़ी का दर्जा हासिल किया।

मिताली ने 1999 में जब भारत की ओर से पदार्पण किया तो महिला क्रिकेट को अधिक तवज्जो नहीं दी जाती थी लेकिन अब यह लाखों लड़कियों के लिए करियर के रूप में पसंद बन चुका है जो उनकी तरह बनना और नाम कमाना चाहती हैं।

16 साल की आयु में मिताली ने अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू मैच में आयरलैंड के विरुद्ध वनडे मुक़ाबले में नाबाद 114 रन बनाए थे। वह उस समय महिला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में शतक बनाने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बनी थीं। आज भी महिला वनडे क्रिकेट में यह रिकॉर्ड मिताली के नाम है।इस शतक ने उस करियर की शुरुआत की जिसमें मिताली भारतीय बल्लेबाज़ी की सबसे मज़बूत कड़ी बनकर उभरी।

मिताली ने 6 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय विश्व कप में भारत का प्रतिनिधित्व किया और उनके नाम लगातार 7 अर्धशतक जड़ने का रिकॉर्ड भी है।वह भारत की एकमात्र कप्तान (महिला या पुरुष) हैं जिनकी अगुआई में भारत दो बार विश्व कप फाइनल (2005 और 2017) में खेला।

विश्व कप 2017 में टीम के प्रदर्शन से भारत में महिला क्रिकेट को काफी लोकप्रियता मिली।पांच साल बाद न्यूजीलैंड में हालांकि मिताली अपने करियर का परिकथा जैसा अंत नहीं कर सकी जहां भारत शुरुआती चरण से ही बाहर हो गया।

यह 39 वर्षीय बल्लेबाज पहले ही टी20 प्रारूप से संन्यास ले चुकी है और मार्च में एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय विश्व कप में भारत का अभियान खत्म होने के बाद उनके संन्यास लेने की उम्मीद की जा रही थी।
मिताली ने संन्यास की घोषणा करते हुए सोशल मीडिया पर लिखा, ‘‘मैं भारत की नीली जर्सी पहनने की यात्रा पर निकली थी क्योंकि अपने देश का प्रतिनिधित्व करना सबसे बड़ा सम्मान होता है। मैंने अपनी यात्रा में कई शीर्ष लम्हे देखे और कुछ मुश्किल दौर का भी सामना किया। इस हर लम्हे ने मुझे कुछ नया सिखाया और पिछले 23 साल मेरे जीवन के सबसे संतोषजनक, चुनौतीपूर्ण और आनंददायक वर्ष रहे।’’

उन्होंने लिखा, ‘‘पूरी यात्रा का आनंद लिया, इसका भी अंत होना ही था। आज वह दिन है जब मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास लेती हूं।’पूर्व क्रिकेटरों से लेकर क्रिकेट प्रशंसको तक मिताली राज को सोशल मीडिया पर कुछ ऐसे बधाई मिली।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

'पांड्या को टीम इंडिया में वापसी की हार्दिक शुभकामनाएं', कोच द्रविड़ ने दिया यह बयान