Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

45 साल तक रहे कमेंट्री बॉक्स में, सचिन के शतकों का बढ़ाया मज़ा, अब संन्यास लेंगे इयान चैपल

हमें फॉलो करें webdunia
मंगलवार, 16 अगस्त 2022 (13:15 IST)
सिडनी: पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान और क्रिकेट कमेंटेटर इयन चैपल ने अपने 45 साल लंबे कमेंट्री करियर को विराम देने का निर्णय लिया है।

अपनी तीक्ष्ण टिप्पणियों के लिये क्रिकेट जगत में मशहूर 78 वर्षीय चैपल ने सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के सामने इस बात का खुलासा करते हुए कहा, "मुझे वह दिन याद है जब मुझे पता लग गया था कि मेरा दिल क्रिकेट से भर गया है। मैंने घड़ी की ओर देखा, और (टेस्ट मैच के) खेल के दिन समय 11 बजे से पांच मिनट आगे बढ़ चुका था। मुझे एहसास हुआ कि यदि आप घड़ी की तरफ देख रहे हैं, तो आपके जाने का समय आ चुका है।"

उन्होंने कहा, "जब कमेंट्री की बात आती है, तो मैं इस बारे में काफी समय से सोच रहा हूं। कुछ सालों पहले मुझे दिल का दौरा पड़ा था। मैं भाग्यशाली रहा, लेकिन उसके बाद सब कुछ कठिन हो गया। मैंने विचार किया कि सफर के दौरान चीजें और मुश्किल हो जाएंगी।"

जब चैपल से पूछा गया कि वह किस तरह याद किया जाना पसंद करेंगे, तो उन्होंने कहा, "यह दूसरे लोगों के ऊपर है कि वे मुझे किस तरह याद करते हैं। कुछ सोचेंगे कि मैं ठीक-ठाक था। कुछ सोचेंगे कि मैं बहुत बुरा था। मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।"

चैपल ने 75 टेस्ट मैचों के अपने करियर के बाद कमेंट्री बॉक्स का रुख किया था। वह करीब तीन दशक तक चैनल नाइन के प्रसारण समूह का हिस्सा बने रहे। हाल ही में चैपल स्किन कैंसर सहित कई बीमारियों से गुजरे हैं, लेकिन उन्होंने प्रिंट एवं प्रसारण माध्यमों पर क्रिकेट संबंधी विचार साझा करना जारी रखा है।

सचिन के कई शतकों को किया जीवंत

इयान चैपल ने सचिन के शतक को शारजाह में और खास बना दिया था। साल 1998 में भारत को रनरेट के लिए ऑस्ट्रेलिया से जीत या फिर करीबी हार की जरुरत थी। उस दिन शारजाह में रेत का तूफान आया था। इसके बाद सचिन की धमाकेदार पारी पर उन्होंने कहा था कि रेत के तूफान के बाद सचिन के तूफान ने ऑस्ट्रेलिया को उड़ा के रख दिया। हालांकि यह मैच भारत हार गया लेकिन सचिन ने दुबारा अपने जन्मदिन पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार पारी खेलकर टीम को फाइनल जितवाया। इस सीरीज में चैपल की अंग्रेजी कमेंट्री आज भी याद की जाती है।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

FIFA ने दिया बड़ा झटका, भारतीय फुटबॉल महासंघ सस्पेंड, U-17 महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी छीनी