राउंड रॉबिन प्रारूप में होगा 'आईसीसी विश्वकप 2019'

शुक्रवार, 27 अप्रैल 2018 (20:47 IST)
कोलकाता। वर्ष 1992 का एकदिवसीय विश्वकप राउंड रॉबिन प्रारूप में खेला गया था और उसके 27 साल बाद जाकर 2019 में इंग्लैंड में होने वाला विश्वकप राउंड रॉबिन प्रारूप में खेला जाएगा।


वर्ष 1992 में जहां नौ टीमें थीं, वहीं इस बार 10 टीमें राउंड रॉबिन प्रारूप में एक-दूसरे के खिलाफ खेलेंगी। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सात दिनों तक चली बोर्ड बैठक के बाद विश्वकप 2019 के कार्यक्रम की पुष्टि की है, जो इंग्लैंड एंड वेल्स की मेजबानी में 30 मई से 14 जुलाई तक खेला जाना है।

वर्ष 1975 में शुरू हुए विश्वकप के पहले चार संस्करण ग्रुप मैचों के बाद सेमीफाइनल और फाइनल प्रारूप में खेले गए थे। 1992 में राउंड रॉबिन प्रारूप की शुरुआत हुई, जिसमें सभी नौ टीमें एक-दूसरे के खिलाफ खेलीं और शीर्ष चार टीमों के बीच सेमीफाइनल हुए, लेकिन इसके बाद इस प्रारूप का इस्तेमाल नहीं हुआ। वर्ष 1996 के विश्वकप में क्वार्टरफाइनल की शुरुआत हुई जबकि 1999 के विश्वकप में सुपर सिक्स की शुरुआत हुई।

आईसीसी विश्वकप 27 साल बाद उसी राउंड रॉबिन प्रारूप में लौट रहा है, जिसमें पाकिस्तान की टीम करिश्माई वापसी करते हुए चैंपियन बनी। इस बार सभी 10 टीमें लीग चरण में एक-दूसरे से खेलेंगी और चार टीमें नॉकआउट दौर में प्रवेश करेंगी।

वर्ष 1983 और 2011 की विश्व चैंपियन और 2013 में इंग्लैंड में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीत चुकी भारतीय क्रिकेट टीम इस बार अभियान की शुरुआत पांच जून को साउथम्पटन के हैम्पशायर बाउल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करेगी, जबकि चिरप्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से उसका मैच 16 जून को ओल्ड ट्रेफर्ड में होगा।

मेजबान इंग्लैंड 30 मई को ओवल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ मुकाबले से विश्वकप की शुरुआत करेगा जो इंग्लैंड और वेल्स में 11 स्थलों पर खेला जाएगा। क्रिकेट का मक्का कहा जाने वाला लार्ड्स 14 जुलाई को पांचवीं बार विश्वकप फाइनल की मेजबानी करेगा।

आईसीसी ने नॉकआउट मैचों दोनों सेमीफाइनल और फाइनल के लिए रिजर्व दिन रखे हैं। ओल्ड ट्रेफर्ड नौ जुलाई को पहले सेमीफाइनल की मेजबानी करेगा, जिसमें पहले और चौथे नंबर की टीमें भिड़ेंगी। 11 जुलाई को एजबस्टन में दूसरे और तीसरे स्थान की टीमों के बीच दूसरा सेमीफाइनल होगा।

विश्वकप के मैचों की मेजबानी करने वाले 11 स्थलों में लार्ड्स, ओवल, एजबस्टन, ट्रेंट ब्रिज, हेडिंग्ले, ओल्ड ट्रेफर्ड, टांटन, ब्रिस्टल, चेस्टरली स्ट्रीट, साउथम्पटन और कार्डिफ शामिल हैं।

46 दिनों तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में 45 मैचों के बाद सिंगल लीग फार्मेट के आधार पर शीर्ष चार टीमें सेमीफाइनल में पहुंचेंगी। गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया का पहला मुकाबला अब क्वालिफायर अफगानिस्तान से दो जून को ब्रिस्टल में होगा। टूर्नामेंट में सात दिन-रात्रि के मैच खेले जाएंगे।

आईसीसी क्रिकेट विश्वकप 2019 के प्रबंध निदेशक स्टीव एल्सवर्थी ने कार्यक्रम की घोषणा करते हुए टिकटों की कीमत पर भी ध्यान देने की बात कही। उन्होंने कहा, ब्रिटेन की जनसंख्या बहुत भिन्न है और हर टीम को उसका घरेलू समर्थन यहां मिलेगा। यह दुनिया में तीसरा सर्वाधिक देखा जाने वाला टूर्नामेंट है इसलिए हमने टिकटों की कीमत को भी इसी हिसाब से तय किया है। हमने पिछले छह महीने में कई फैन्स पर इन कीमतों का टेस्ट किया है और इस पर काफी चर्चा भी की है।
 
आईसीसी विश्वकप में भारत के मैचों का कार्यक्रम इस प्रकार है : 
पहला मैच- 5 जून- भारत बनाम दक्षिण अफ्रीका (हैम्पशायर बाउल, साउथम्पटन)
दूसरा मैच- 9 जून- भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (द ओवल, लंदन)
तीसरा मैच- 13 जून- भारत बनाम न्यूजीलैंड (ट्रेंट ब्रिज,नॉटिंघम)
चौथा मैच- 16 जून- भारत बनाम पाकिस्तान (ओल्ड ट्रेफर्ड, मैनचेस्टर) 
पांचवां मैच- 22 जून- भारत बनाम अफगानिस्तान (हैम्पशायर बाउल, साउथम्पटन)
छठा मैच- 27 जून- भारत बनाम वेस्टइंडीज़ (ओल्ड ट्रेफर्ड, मैनचेस्टर )
सातवां मैच- 30 जून- भारत बनाम इंग्लैंड (एजबस्टन, बर्मिंघम)
आठवां मैच- 2 जुलाई- भारत बनाम बंगलादेश (एजबस्टन, बर्मिंघम)
नौवां मैच- 6 जुलाई- भारत बनाम श्रीलंका (हेडिंग्ले, लीड्स)
(वार्ता)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आईपीएल-11 : कोलकाता नाइटराइडर्स बनाम दिल्ली डेयरडेविल्स मैच का ताजा हाल