ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट में सौरव गांगुली ने अपनी चाहत का खुलासा किया

शुक्रवार, 8 नवंबर 2019 (01:01 IST)
कोलकाता। बीसीसीआई के नए मुखिया सौरव गांगुली ने गुरुवार को अपनी एक चाहत का खुलासा किया। गांगुली चाहते हैं कि मौजूदा विश्व शतरंज चैंपियन मैग्नस कार्लसन और पूर्व विश्व शतरंज चैंपियन विश्वनाथन आनंद के 22 से 26 नवंबर तक यहां भारत और बांग्लादेश के बीच होने वाले ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट मैच के दौरान एक दिन खेल शुरू होने का संकेत देने वाली घंटी बजाए।
 
भारत में पहली बार डे-नाइट टेस्ट का आयोजन कर रहे सौरव गांगुली की अगुआई वाले बीसीसीआई को नार्वे के विश्व चैंपियन की पुष्टि का इंतजार है, जो टाटा स्टील शतरंज इंडिया-रेपिड एंड ब्लिट्ज 2019 में खेलने के लिए यहां आए हैं। यह टूर्नामेंट ग्रैंड शतरंज टूर का हिस्सा है।
 
टूर के आधिकारिक प्रायोजक और ब्रांड साझेदार गेमप्लान स्पोर्ट्स के निदेशक जीत बनर्जी ने यहां कहा, बीसीसीआई ने ईडन में घंटी बजाने के लिए कार्लसन को आमंत्रित किया है और अगर समय मिला तो उन्हें और आनंद को 5 दिन में से 1 दिन स्टेडियम में देखा जा सकता है।
 
बंगाल क्रिकेट संघ के सूत्रों के अनुसार आनंद पहले ही आमंत्रण स्वीकार कर चुके हैं और अब उन्हें कार्लसन की स्वीकृति का इंतजार है। आयोजकों में से एक ने बताया कि कार्यक्रम तैयार करना चिंता का विषय हो सकता है क्योंकि दोनों टूर्नामेंटों का समय लगभग समान है।
 
उन्होंने कहा, टेस्ट एक बजे शुरू होगा जबकि जीसीटी कोलकाता सर्किट राष्ट्रीय पुस्तकालय में दो बजे शुरू होगा। टेस्ट मैच के पहले दिन के खेल की शुरुआत बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ईडन की घंटी बजाकर करेंगी।
 
महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर, ओलंपिक चैंपियन अभिनव बिंद्रा, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, विश्व बैडमिंटन चैंपियन पीवी सिंधू और एमसी मैरीकॉम के अलावा भारत के कई स्टार खिलाड़ी इस टेस्ट को देखने के लिए आएंगे।
 
बंगाल क्रिकेट संघ साथ ही 2000 में भारत और बांग्लादेश के बीच हुए पहले टेस्ट की टीम को भी सम्मानित करेगा। इस टेस्ट के साथ मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने टेस्ट कप्तान के रूप में पदार्पण किया था।

मैच के पहले दिन हेलीकाप्टर को ईडन गार्डन्स के ऊपर उड़ते देखा जा सकता है जिससे पैराशूट के जरिए ‘स्काईडाइवर’ ट्रॉफी के साथ मैदान पर उतरेगा।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख IPL में रविचंद्रन अश्विन की अटकलें समाप्त, पंजाब को दिल्ली से मिले डेढ़ करोड़ रुपए