Team India के इस युवा खिलाड़ी ने अपनी काबिलियत साबित कर दिखाई : विराट कोहली

मंगलवार, 3 सितम्बर 2019 (17:56 IST)
किंग्सटन। वेस्टइंडीज को दूसरे टेस्ट मुकाबले में 257 रनों के बड़े अंतर से हराकर भारतीय टीम के सबसे सफल टेस्ट कप्तान बने विराट कोहली ने मध्यक्रम के युवा बल्लेबाज हनुमा विहारी की सराहना करते हुए कहा है कि उन्होंने इस मुकाबले में अपने काबिलियत साबित की है। 
ALSO READ: शतक बनाकर हनुमा विहारी ने इशांत शर्मा को क्यों कहा थैंक्स  
विराट सेना ने सोमवार को दूसरे टेस्ट के चौथे ही दिन मेजबान वेस्टइंडीज को दूसरी पारी 210 रन पर समेट कर 257 रनों के बड़े अंतर से मैच जीता तथा सीरीज अपने नाम कर ली। भारत ने इस मुकाबले को जीतने के साथ ही आईसीसी विश्व चैंपियनशिप में 120 अंक भी हासिल कर लिए। विराट की अपनी कप्तानी में भारतीय टीम की यह 28वीं जीत थी और उन्होंने महेंद्र सिंह धोनी (27 जीत) को पीछे छोड़ दिया। 
 
मैच के बाद विराट ने कहा, हमने इन 4 दिनों में काफी अच्छा प्रदर्शन किया। टीम से ऐसे ही प्रदर्शन की उम्मीद थी और हमें उम्मीद के अनुरुप नतीजा मिला। हालांकि यह काफी चुनौतीपूर्ण था। हम एक समय परेशानी में थे लेकिन खिलाड़ियों के बेहतरीन प्रयास से हमने ये मुकाबला जीत लिया। 
हनुमा की तारीफ करते हुए कप्तान ने कहा, हनुमा ने इस मैच में शानदार बल्लेबाजी की। उन्होंने इस मुकाबले में अपनी जिम्मेदारी से खेलते हुए साझेदारी की और पूरी लगन के साथ बल्लेबाजी की। पिच को देखते हुए उनकी पारी सर्वश्रेष्ठ थी। 
ALSO READ: हनुमा विहारी का टेस्ट क्रिकेट में पहला शतक, जानिए उनसे जुड़ीं खास बातें 
विराट ने कहा, हनुमा एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो पूरे विश्वास के साथ बल्लेबाजी करने उतरते हैं। उन्हें पता है कि उनका रोल क्या है और वह अपनी जिम्मेदारी बखूबी समझते हुए बल्लेबाजी करते हैं। जब हनुमा क्रीज पर होते हैं तो ड्रेसिंग रुप शांत रहता है। टीम के खिलाड़ी निश्चिंत रहते हैं। उनकी यह खासियत है। 

विराट ने कहा, हनुमा अपनी पिछली गलतियों से सीख लेते हैं। वह अपनी गलती को पहचानकर उसमें सुधार करते हैं। हनुमा हमेशा टीम के लिए योगदान देना चाहते हैं। वह अभी युवा हैं और उनका करियर काफी लंबा है। उन्होंने इस मुकाबले में बेहतरीन प्रदर्शन कर अपनी प्रतिभा दिखाई और यह साबित किया कि उनका टीम में चयन किस आधार पर किया गया। 
ALSO READ: टी-20 क्रिकेट टूर्नामेंट में श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा ने शाहिद अफरीदी का ये रिकॉर्ड तोड़ा 
भारत के लिए सबसे सफल टेस्ट कप्तान बनने पर उन्होंने कहा, यह टीम के संयुक्त प्रदर्शन के कारण संभव हो सका है। हमारी टीम बेहद मजबूत है। टीम में बेहतरीन गेंदबाज हैं और इन गेंदबाजों के बिना यह जीत संभव नहीं थी। मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और ईशांत शर्मा ने जिस तरह आक्रामक गेंदबाजी की ये वाकई बेहतरीन था। रवींद्र जडेजा ने भी अच्छी गेंदबाजी की। 

कप्तान ने कहा, मैं सिर्फ एक कप्तान हूं और फैसले लेता हूं लेकिन मेरे निर्णय को सही साबित करना टीम के हाथ में है। हमारे लिए ये महज विश्व चैंपियनशिप का आगाज है। पिछले दिनों जो कुछ भी हुआ हम उसे पीछे छोड़ते हुए आगे बढ़ गए हैं और अपने प्रदर्शन पर ध्यान केंद्रीत करना चाहते हैं। 
ALSO READ: Rishabh Pant ने टेस्ट क्रिकेट में धोनी को पीछे छोड़ा, 50 बल्लेबाजों को सबसे तेजी से पैवेलियन भेजकर बनाया यह नया रिकॉर्ड 
वेस्टइंडीज के लिए विराट ने कहा, वेस्टइंडीज को पता है कि उन्हें किन क्षेत्रों में अपने प्रदर्शन में सुधार करना है। लेकिन गेंदबाजी के रुप में उनकी टीम वाकई एक बेहतरीन टीम है। जैसन होल्डर और केमार रोच ने मैच में शानदार गेंदबाजी की। टेस्ट मैच में विंडीज के गेंदबाज किसी भी टीम के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं। अगर वे ज्यादा रन बनाएं तो विपक्षी टीम के लिए मैच जीतना कठिन हो सकता है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ 2 वनडे मैच खेलकर अपनी फॉर्म में वापस लोटना चाहेंगे शिखर धवन