हांगकांग में प्रदर्शनों पर सोशल मीडिया का गलत इस्तेमाल कर रहा चीन!

बुधवार, 21 अगस्त 2019 (11:47 IST)
ट्विटर और फेसबुक ने चीन पर आरोप लगाया है कि सरकार सोशल मीडिया का इस्तेमाल हांगकांग के प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कर रही है। इसके खिलाफ कार्रवाई करते हुए ट्विटर-फेसबुक ने कई अकाउंट बंद किए हैं।
 
दुनिया के दो सबसे बड़े सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और ट्विटर ने चीन पर आरोप लगाया है कि वो उनके प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर हांगकांग में चल रहे विरोध प्रदर्शनों को गलत तरह से दिखा रहा है। ट्विटर ने एक ऑनलाइन बयान जारी कर कहा," हम हांगकांग के वर्तमान हालातों के बारे में ट्विटर पर चीन सरकार की ओर से चल रहे अभियानों को देख रहे हैं। यह खासकर वहां हो रहे प्रदर्शनों और उनकी राजनीतिक मांग के खिलाफ हो रहा है। करीब 936 ट्विटर अकाउंट ऐसे हैं जो चीन से संचालित किए जा रहे हैं। ये अकाउंट इन प्रदर्शनों की वैधता और उनके राजनीतिक तरीकों पर प्रश्नचिह्न लगा रहे हैं। ये सारे अकाउंट इस मामले में चीन की तरफदारी कर रहे हैं।"
 
ट्विटर ने बताया कि दो लाख से ज्यादा स्वचालित अकाउंट या बोट्स को डिलीट कर दिया गया है। ये सब अकाउंट उन 936 ट्विटर अकाउंट द्वारा किए जा रहे ट्वीट्स को आगे बढ़ाने का काम कर रहे थे। ट्विटर के एक अधिकारी ने कहा कि इन अकाउंट्स को कंपनी के सेवा नियमों का उल्लंघन करने की वजह से बंद किया गया है। उनके मुताबिक ट्विटर पर लोग इस तरह की गलत जानकारी लेने नहीं आते हैं और ट्विटर ऐसी गलत जानकारी लोगों तक नहीं जाने देगा। ट्विटर ने चीन की सरकारी कंपनियों से विज्ञापन लेना भी बंद कर दिया है। गौरतलब है कि ट्विटर ने 2017 में रूस की दो कंपनियों से भी विज्ञापन लेना बंद कर दिया था।
 
ट्विटर के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि यह अवांछित राजनीतिक गतिविधियों को रोकने के लिए ट्विटर द्वारा उठाया गया कदम है। ट्विटर पर पहले चुनावों के दौरान झूठे और भ्रमित करने वाली सामग्री को अपने प्लेटफॉर्म पर जगह देने और सरकार द्वारा चलाए जाने वाले प्रोपेगैंडा को अपने प्लेटफॉर्म पर प्रसारित करने का आरोप लग चुका है। पहले रूस पर आरोप लगा था कि उसने फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम का इस्तेमाल कर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव के दौरान लोगों के मन पर असर डाला जिससे लोगों ने रूस की पसंद के उम्मीदवार का समर्थन किया।
 
फेसबुक का भी इस्तेमाल किया चीन ने
ट्विटर के बाद फेसबुक ने भी चीन से चल रहे इस तरह के एजेंडे पर कार्रवाई की। हांगकांग में ट्विटर से ज्यादा फेसबुक का इस्तेमाल होता है। 19 अगस्त को फेसबुक ने सात फेसबुक पेज, तीन फेसबुक ग्रुप और पांच फेसबुक अकाउंट्स को सस्पेंड कर दिया है। इनमें से कुछ अकाउंट्स ने हांगकांग में प्रदर्शन कर रहे लोगों की तुलना आतंकवादियों और कीड़े-मकोड़ों से भी की थी। फेसबुक ने चीन द्वारा चलाए जा रहे ऐसे ऑपरेशनों का कोई डाटा तो साझा नहीं किया है लेकिन इतना बताया है कि ये सारे अकाउंट चीन से चलाए जा रहे थे।
 
फेसबुक के साइबर सिक्योरिटी हेड नथानिएल ग्लेइश्चर ने बताया," इन अकाउंट्स को चला रहे लोग गलत तरीकों का इस्तेमाल कर रहे थे। ये अकाउंट खुद को मीडिया संस्थान बताने की कोशिश कर रहे थे और लोगों को फर्जी न्यूज वेबसाइटों पर ले जाकर अपना एजेंडा लोगों तक पहुंचा रहे थे। इनकी अधिकांश पोस्ट हांगकांग में चल रहे प्रदर्शनों के बारे में ही थीं। इस काम को कर रहे लोगों ने अपनी पहचान छिपाने की पूरी कोशिश की लेकिन हमारी जांच में पता चला है कि ये सब चीन सरकार से जुड़े हुए हैं।"
 
आरएस/एनआर(एपी,एएफपी,रॉयटर्स)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख खत्म हो रहे हैं दुनिया के ग्लेशियर