लॉकडाउन में गई नौकरी, अब दिल्ली में अवसर तलाश रहे बेरोजगार

DW

गुरुवार, 30 जुलाई 2020 (10:20 IST)
रिपोर्ट आमिर अंसारी
 
दिल्ली सरकार ने लॉकडाउन के दौरान बेरोजगार हुए लोगों की सुविधा के लिए एक वेब पोर्टल की शुरुआत की है। इस पोर्टल पर बेरोजगार नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन अब दूसरों राज्यों से भी आवेदन आने लगे हैं।
ALSO READ: क्या भारत में रोजगार की स्थिति बेहतर हो रही है?
देश की राजधानी दिल्ली में बेरोजगार और नियोक्ताओं को साथ लाने के मकसद के साथ दिल्ली सरकार ने नौकरी वेबसाइट की शुरुआत की है। अनलॉक की प्रक्रिया के तहत जो व्यापार, दुकान और अन्य व्यवसाय खुल गए हैं और जिन्हें कर्मचारियों की जरूरत है उन्हें इस वेबसाइट पर पंजीकृत लोगों को चुनने का विकल्प मिलेगा।
 
दिल्ली के उन युवाओं को नौकरी की तलाश में दर-दर भटकना न पड़े, इसके लिए वे सरकार की वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराकर नौकरी की तलाश कर सकते हैं। दिलचस्प बात यह है कि यह जॉब पॉर्टल दिल्ली के लोगों के लिए है और इस पर दूसरे राज्यों से भी लोग आवेदन कर रहे हैं। दिल्ली सरकार ने जो जॉब पोर्टल शुरू किया है, उसमें नियोक्ता और नौकरी तलाश रहे लोगों को एक ही मंच मिल जाता है। इस तरह से दोनों का काम आसान हो जाता है।
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मुताबिक कि हमें अब धीरे-धीरे दिल्ली की अर्थव्यवस्था को वापस खड़ा करना है। लॉकडाउन में सबकुछ बंद था, काफी लोगों का रोजगार भी चला गया। अब हमें मिलकर लोगों के लिए रोजगार का इंतजाम करना है। अनलॉक के बाद जब बिजनेस खुलने लगे हैं तो उन्हें काम करने वालों की तलाश है। दिल्ली में नौकरी ढूंढने और देने वाले दोनों मौजूद हैं। दिल्ली सरकार ने दोनों को ध्यान में रखते हुए 'रोजगार बाजार' योजना की शुरुआत की है।
ALSO READ: COVID-19 महामारी से बस, टैक्सी क्षेत्र में 20 लाख लोग हुए बेरोजगार
इस वेबसाइट पर जब कर्मचारी रजिस्टर करता है और अपनी पसंद की जॉब कैटेगरी चुनता है तो वेबसाइट पर उससे मिलती हुई नौकरी दिखाई देती है। कर्मचारी पसंद की नौकरी पर क्लिक कर नियोक्ता से फोन या व्हाट्सऐप पर संपर्क कर सकता है।
 
नौकरी की मांग
 
दिल्ली के मुख्यमंत्री के कार्यालय के मुताबिक 27 जुलाई को वेबसाइट लॉन्च होने के कुछ ही घंटों बाद ही 50 हजार कर्मचारियों ने वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराया जबकि इसी दौरान 1,071 नियोक्ताओं ने 18,585 नौकरी के लिए आवेदन मंगाए। लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर प्रवासी श्रमिक अपने गृहराज्य लौट गए थे और अनलॉक की प्रक्रिया शुरू होने के बाद वे रोजगार की तलाश में दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, चेन्नई और कोलकाता जैसे महानगरों में वापस लौट रहे हैं। हालांकि कुछ क्षेत्र ऐसे भी हैं, जहां पर पाबंदी जारी है और वहां रोजगार के अवसर अब तक नहीं बन पाए हैं।
 
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली सरकार के इस पोर्टल पर दूसरे राज्यों के भी लोग रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं और नियोक्ताओं को फोन कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल, उत्तरप्रदेश, बिहार, कर्नाटक यहां तक की केरल से भी नियोक्ताओं को फोन आ रहे हैं। मंगलवार शाम तक इस पोर्टल पर 1.89 लाख लोगों ने नौकरी की तलाश में रजिस्ट्रेशन कराया। 2 दिनों के भीतर 4,294 नियोक्ताओं ने 32 श्रेणियों में 1 लाख नौकरी के लिए आवेदन मंगाए थे।
 
नौकरी की तलाश वाले ज्यादातर लोग डाटा एंट्री या बैक ऑफिस का काम करना चाहते हैं। कुछ लोग स्कूल या फिर ट्यूशन पढ़ाने को लेकर भी काम तलाश रहे हैं जबकि सेल्स और मार्केटिंग से जुड़े काम को लेकर भी लोग इ्च्छा जाहिर कर रहे हैं। इसके अलावा ब्यूटी पार्लर, हाउसकीपिंग और चपरासी के पद के लिए भी बेरोजगार आवेदन कर रहे हैं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख यूपी में कोरोनाः नियंत्रण से बाहर हो रहे हैं लखनऊ में हालात?