मोदी से मेरा मुकाबला नहीं, राहुल गांधी ही देंगे पीएम को टक्कर : प्रियंका गांधी

बुधवार, 13 फ़रवरी 2019 (14:00 IST)
लोकसभा चुनाव से पहले पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव प्रियंका गांधी पूरी शक्ति के साथ मैदान में उतर चुकी हैं। वे कांग्रेस में नई जान फूंकने के लिए जमीनी स्तर पर काम कर रही हैं। लखनऊ में मेगा रोड शो के बाद प्रियंका ने कार्यकर्ताओं के साथ मैराथन बैठक की। यह बैठक बुधवार तड़के 5.30 पर खत्म हुई। बैठक के बाद उन्होंने मीडिया से कहा कि मोदी से मेरा मुकाबला नहीं बल्कि राहुल गांधी ही देंगे पीएम को टक्कर।
 
प्रियंका गांधी ने अपने पति रॉबर्ट वाड्रा से ईडी से पूछताछ के सवाल पर कहा कि ये चीजें चलती रहेंगी, मैं अपना काम करती रहूंगी, मुझे बिलकुल फर्क नहीं पड़ता।
 
योगी के गढ़ को भेदेंगी प्रियंका : कांग्रेस ने उत्तरप्रदेश के लिए प्रभारी महासचिवों प्रियंका गांधी वाड्रा और ज्योतिरादित्य सिंधिया को लोकसभा चुनाव के लिए मंगलवार को सीटों की संख्यावार जिम्मेदारी सौंप दी। महासचिव-प्रभारी (पूर्वी उत्तर प्रदेश) प्रियंका को उत्तर प्रदेश की कुल 41 लोकसभा सीटों और महासचिव-प्रभारी (पश्चिमी उत्तर प्रदेश) सिंधिया को 39 सीटों की जिम्मेदारी दी है।
 
कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल की ओर से जारी बयान के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने इन दोनों महासचिवों के लिए सीटों की संख्या के निर्धारण को स्वीकृति प्रदान की। प्रियंका को जिन सीटों की जिम्मेदारी सौंपी गई है उनमें अमेठी और रायबरेली के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र वाराणसी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गढ़ कही जाने वाली गोरखपुर सीट भी शामिल है। दूसरी तरफ, सिंधिया को सौंपी गई सीटों में कानपुर, कन्नौज, सहारनपुर और गाजियाबाद जैसी सीटें शामिल हैं।  

कार्यकर्ताओं के साथ मैराथन बैठक : प्रियंका गांधी वाड्रा ने मंगलवार को पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ 16 घंटे से ज्यादा समय तक बैठक की। बैठक बुधवार तड़के तक जारी रही। प्रियंका ने बताया कि संगठन के बारे में अभी जानकारी हासिल कर रही हूं। किस तरह से संगठन का ढांचा बना है और आगे क्या रास्ता अपनाया जाए, इस पर विचार करने के अलावा मैं कार्यकर्ताओं से यह भी जान रही हूं कि लोकसभा चुनाव किस तरह लड़ा और जीता जाए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख हैती में सरकार विरोधी प्रदर्शन, 6 लोगों की मौत, 78 कैदी जेल से भागे