Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सीधी हादसा : मृतक संख्या 47 हुई, मजिस्ट्रेटी जांच का आदेश, PM मोदी ने जताया दु:ख

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
बुधवार, 17 फ़रवरी 2021 (00:02 IST)
मध्यप्रदेश में सीधी जिले के रामपुर नैकिन थाना क्षेत्र में यात्रियों से भरी एक बस मंगलवार सुबह पुल से नहर में गिर गई और इस हादसे में 21 महिलाओं सहित 47 लोगों की मौत हो गई। इस घटना की उच्च-स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं।
 
सीधी जिले के पुलिस अधीक्षक पंकज कुमावत ने बताया कि बचाव दलों ने बाणसागर नहर से अब तक 47 शव बाहर निकाल लिए हैं। मृतकों में 21 महिलाएं, 24 पुरुष एवं दो बच्चे हैं। उन्होंने बताया कि इस हादसे में 6 लोगों को बचा लिया गया है।
कुमावत ने बताया कि यह हादसा सीधी जिला मुख्यालय से करीब 80 किलोमीटर दूर पटना गांव में हुआ। बस सीधी से सतना जा रही थी। उन्होंने कहा कि रात में हमने बचाव अभियान बंद कर दिया है और यह बुधवार सुबह फिर शुरू किया जाएगा।
 
इसी बीच रीवा के संभागीय आयुक्त राकेश जैन ने बताया कि यह हादसा सुबह करीब साढ़े सात बजे हुआ और नहर में करीब 25 फुट गहरा पानी था। उन्होंने कहा कि राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) की टीम एवं स्थानीय प्रशासन राहत एवं बचाव कार्य में दिनभर जुटा रहा।
ALSO READ: ओवरलोडिंग और शॉर्टकट सीधी बस हादसे की बड़ी वजह, 45 मौत के बाद घेरे में RTO, बोले परिवहन मंत्री लापरवाही मिली तो बख्शा नहीं जाएगा
 
webdunia
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने इस घटना पर दु:ख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे भाई-बहनों की इस हादसे में जान चली गई। उनके पार्थिव शरीर निकाले जा चुके हैं। चौहान ने कहा कि पार्थिव शरीरों को पूरे सम्मान के साथ उनके गांव भेजने के निर्देश दिए गए हैं।
 
उन्होंने कहा कि सीधी बस दुर्घटना अत्यंत हृदय विदारक है। एक मिनट मौन रहकर कैबिनेट साथियों के साथ दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए परमपिता परमात्मा से प्रार्थना की। चौहान ने बताया, कि सीधी की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को लेकर मैं लगातार प्रशासन और राहत कार्य में जुटे लोगों के संपर्क में हूं। मन बहुत व्यथित है।

5-5 लाख रुपए की सहायता : सिंह ने कहा कि इस दुर्घटना के कारण हमारे जो भाई-बहन नहीं रहे, उनके परिजनों को प्रदेश सरकार की ओर से पांच-पांच लाख रुपए की सहायता राशि तत्काल दी जाएगी। मेरी अपील है कि सभी धैर्य रखें।
 
उन्होंने कहा कि इसके अलावा, मृतकों के परिजनों को तात्कालिक सहायता के रूप में 10-10 हजार रुपए भी दिए गए हैं। चौहान ने कहा कि इस हादसे में घायल लोगों के इलाज की सारी व्यवस्था प्रदेश सरकार करेगी और उनका उपचार नि:शुल्क किया जाएगा।

पीएम बोले- भयावह दुर्घटना : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्य प्रदेश के सीधी जिले में ‘भयावह’ बस दुर्घटना को लेकर मंगलवार को शोक जताया और हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को दो-दो लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने को मंजूरी दी। मोदी ने कहा कि मध्यप्रदेश के सीधी में बस दुर्घटना भयावह है। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। स्थानीय प्रशासन बचाव और राहत कार्य में सक्रिय रूप से शामिल है।
 
उनके कार्यालय ने एक ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्यप्रदेश के सीधी में बस दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये की अनुग्रह राशि मंजूर की है। गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
 
मंत्रियों ने लिया राहत कार्यों का जायजा : मुख्यमंत्री चौहान के निर्देश पर जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और ग्रामीण विकास राज्यमंत्री राम खेलावन पटेल ने दुर्घटनास्थल पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्यों का जायजा लिया। उन्होंने दुर्घटना में मारे गए व्यक्तियों के परिजनों से मुलाकात कर शोक व्यक्त किया और उन्हें सांत्वना दी। सिलावट ने कहा कि घटना बहुत ही दु:खद तथा दुर्भाग्यपूर्ण है।

उन्होंने बताया कि इस दुर्घटना की उच्च-स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं। सिलावट ने कहा कि दुर्घटना के पीड़ितों को हरसंभव सहायता दी जाएगी। दु:ख की इस घड़ी में सरकार और प्रशासन पीड़ितों के साथ है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के निर्देश पर बाणसागर नहर का पानी तत्काल रोका गया।

क्रेन की मदद से दुर्घटनाग्रस्त बस को बाहर निकाला गया। राहत और बचाव दल ने दुर्घटना में मारे गए व्यक्तियों के शव बरामद किए।  सिलावट ने बताया कि मौके पर चिकित्सकों का दल भी निरंतर कार्यरत रहा। (भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
PM मोदी बोले- देसी कंपनियों के नाम पर डराया जा रहा है