Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बालाघाट पुलिस ने 20 करोड़ के साइबर फ्रॉड गिरोह का किया भंडाफोड़,18 राज्यों में फैला है नेटवर्क, 300 मोबाइल 10 लाख नगद जब्त

webdunia
webdunia

विकास सिंह

बुधवार, 16 जून 2021 (19:55 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश की बालाघाट पुलिस ने अंतर्राज्यीय साइबर फ्रॉड गिरोह का भंडाफोड़ किया है। बालाघाट पुलिस ने गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 20 करोड़ ‌की साइबर ठगी का खुलासा किया है। पुलिस ने गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार करते हुए इनके पास से 300 से अधिक मोबाइल,10 लाख नगद,75 से अधिक क्रेडिट कार्ड जब्त करने के साथ 30 से ज्यादा बैंक खाते फ्रीज किए है। पुलिस ने गिरोह के 700 से अधिक ऑपरेटर को चिन्हित किया है।
 
इस मामले में पूरे देश मे 20 करोड़ से अधिक के मनी लॉन्ड्रिंग नेटवर्क का खुलासा हुआ है जिसका नेटवर्क 18 राज्यों में फैला हुआ है। बालाघाट एसपी अभिषेक तिवारी के मुताबिक गृह मंत्रालय के इनपुट पर मध्यप्रदेश, झारखंड और आंध्र प्रदेश समेत कई राज्यों की पुलिस की संयुक्त में साइबर धोखाधड़ी के बड़े गिरोह का खुलासा हुआ है,जिसमें 700 से अधिक ऑपरेटर थे। खुफिया इनपुट की जानकारी के अनुसार गिरोह देश के 18 से अधिक राज्यों में लोगों को अपना शिकार बना रहा था। पुलिस ने‌ साइबर ठगी नेटवर्क के 8 मुख्य संचालकों को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें बालाघाट से दो, झारखंड से 4 और आंध्र प्रदेश से दो आरोपी शामिल है। आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद पुलिस  ने आयकर विभाग और ईडी से भी संपर्क किया हैं।
 
बालाघाट पुलिस के इस बड़े खुलासे पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि साइबर फॉड की शिकायत पर मध्यप्रदेश पुलिस ने बड़ी सफलता हासिल की है। बालाघाट जिले में 20 करोड़ की साइबर हेराफेरी का खुलासा किया है जो 18 राज्यों में चल रहा था। इस मामले में अब तक 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

इस पूरे गिरोह में 700 से 800 लोगों के शामिल होने का अंदेशा है। बालाघाट की पुलिस दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर गिरोह की परत खोल रही है और इस  मामले में और बड़े खुलासे होने की उम्मीद है। गृहमंत्री ने लोगों से अपील की है कि किसी भी हालत में ओटीपी शेयर नहीं करें और अगर कोई व्यक्ति साइबर ठगी का शिकार हुआ हो तो वह बालाघाट पुलिस से संपर्क करें।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बग ढूंढने पर मिले 22 लाख, भारतीय डेवलपर का कमाल