कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव के कुशल निर्देशन से रीवा संभाग प्रदेश में पहले स्थान पर

शुक्रवार, 8 मार्च 2019 (23:32 IST)
रीवा। खसरा-रूबेला टीकाकरण अभियान में रीवा संभाग प्रदेश में पहले स्थान पर रहा। साथ ही टीकाकरण में शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करने वाला प्रदेश का पहला संभाग बना। यह संभव हुआ रीवा संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव के कुशल निर्देशन से। मीजल्स एवं रूबेला टीकाकरण अभियान में शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने पर प्रमुख सचिव स्वास्थ्य ने कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव एवं उनकी पूरी टीम की सराहना की है।
 
कमिश्नर रीवा संभाग डॉ. भार्गव ने इस उल्लेखनीय उपलब्धि पर संभाग के चारों जिलों के कलेक्टर्स, जिला पंचायत के सीईओ, क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य सेवाएं, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, सिविल सर्जन, महिला एवं बाल विकास विभाग के कार्यक्रम अधिकारी और समस्त प्रत्यक्ष एवं परोक्ष रूप से सहयोग करने वाले अधिकारियों तथा कर्मचारियों को बधाई दी है।
 
उन्होंने संभाग में अन्य योजनाओं में भी प्राप्त लक्ष्य की शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करने के लिए प्रेरित किया है तथा कहा कि यदि अधिकारी शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने के लिए एकसाथ संकल्पित हो जाएं और प्रयत्न करें तो कोई भी कार्य मुश्किल नहीं है। मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में संभाग में लक्ष्य से अधिक 23 लाख 60 हजार 577 बच्चों को मीजल्स रूबेला के टीके लगाए गए। जबकि लक्ष्य 23 लाख 54 हजार 698 बच्चों के टीकाकरण का था।
कमिश्नर डॉ. भार्गव ने 21 जनवरी 2019 को जब अपना पदभार ग्रहण किया तब मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में रीवा संभाग प्रदेश में सबसे पीछे था और उपलब्धि केवल 10 प्रतिशत थी। टीकाकरण की यह हालत देखकर कमिश्नर डॉ. भार्गव बच्चों को मीजल्स एवं रूबेला रोग से बचाने के लिए कृत-संकल्पित हुए तथा संभाग के लक्षित शत-प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण कराने के लिए प्रभावी रणनीति बनाई। वे स्वयं कई स्कूलों, आंगनवाड़ियों, छात्रावासों में जाकर बच्चों के टीकाकरण में शामिल हुए एवं उन्हें टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित किया।
 
संभाग के समस्त कलेक्टर्स एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को कार्ययोजना बनाकर विद्यालयों, छात्रावासों, आश्रमों, आंगनवाड़ियों में बच्चों का टीकाकरण कराने के निर्देश दिए, साथ ही जेल में बंद महिला कैदियों के शत-प्रतिशत बच्चों का टीकाकरण तथा दिव्यांग एवं नि:शक्त बच्चों का टीकाकरण करने के निर्देश दिए। इसके सुखद परिणाम सामने आए और अंतत: रीवा संभाग ही प्रदेश में मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान में पहले स्थान पर रहा।
 
रीवा जिले में 7 लाख 79 हजार 455 लक्षित बच्चों में से 7 लाख 81 हजार 612 बच्चों का टीकाकरण किया गया। सतना जिले में 7 लाख 29 हजार 444 लक्षित बच्चों में 7 लाख 29 हजार 586 बच्चों का, सीधी जिले में 4 लाख 6 हजार 919 लक्षित बच्चों में से 4 लाख 9 हजार 486 बच्चों का टीकाकरण किया गया। सिंगरौली जिले में 4 लाख 38 हजार 880 लक्षित बच्चों में से 4 लाख 39 हजार 893 बच्चों का टीकाकरण किया गया। इस तरह से रीवा संभाग ने मीजल्स रूबेला टीकाकरण की शत-प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त की।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पुलवामा हमला : सीआरपीएफ के शहीद कर्मियों को 1 करोड़ रुपए से अधिक अनुग्रह राशि