चुनाव से पहले निशाने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ, करीबी प्रवीण कक्कड़, आरके मृगलानी के ठिकानों पर दिल्ली की आईटी टीम का छापा

विकास सिंह

रविवार, 7 अप्रैल 2019 (12:27 IST)
भोपाल। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले दिल्ली से आई आयकर विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ और मुख्यमंत्री के काफी करीबी राजेंद्र मृगलानी के कई ठिकानों पर छापा मारा है।
 
आयकर विभाग ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के इंदौर में विजय नगर स्थित घर के साथ ही भोपाल, दिल्ली और गोवा में स्थित ठिकानों पर छापा मारा। भोपाल में प्रवीण कक्कड़ के करीबी अश्विनी जोशी और प्रतीक जोशी के प्लेटिनम प्लाजा स्थित ठिकानों पर भी आईटी विभाग की कार्रवाई जारी है। इसके साथ ही प्रवीण कक्कड़ से भोपाल स्थित श्यामला हिल्स स्थित ठिकाने पर भी आयकर विभाग की एक टीम जांच में जुटी है।
 
आयकर विभाग की दिल्ली की टीम आज सुबह करीब तीन बजे पूर्व नौकरशाह प्रवीण कक्कड़ के इंदौर स्थित विजय नगर स्थित घर पर पहुंची और दस्तावेज को बंगाल में जुटी है। सूत्र बताते हैं कि विभाग को अब तक की कार्रवाई में अब तक पंद्रह करोड़ से अधिक की संपत्ति बरामद हुई है। इसके साथ मुख्यमंत्री के काफी करीबी राजेंद्र मृगलानी के दिल्ली स्थित घर पर भी आयकर विभाग की कार्रवाई जारी है।
 
मध्यप्रदेश- छत्तीसगढ़ की आयकर विंग को खबर नहीं - आयकर विभाग की इस पूरी कार्रवाई में दिल्ली के अफसर शामिल होना बताए जा रहे हैं। आयकर विभाग की इस कार्रवाई के बारे में मध्यप्रदेश के आयकर विंग को कोई खबर नहीं थी। बताया जा रहा है कि कार्रवाई को अंजाम देने से पहले आयकर विभाग के अफसर भोपाल और इंदौर टूरिस्ट बनकर पहुंचे थे और शहर घूमने के लिए ट्रैवल्स एजेंसी की गाड़ी किराए पर ली थी। इन गाड़ियों से विभाग के अफसरों ने एक साथ भोपाल और इंदौर के ठिकानों पर छापा मारा।
 
आयकर छापे पर सियासत - वहीं चुनाव से ठीक पहले आयकर विभाग के इस छापे पर सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस ने इसे चुनावी छापा करार दिया है। कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने वेबदुनिया से बातचीत में इस पूरी कार्रवाई को मोदी सरकार की राजनीतिक प्रतिशोध की भावना के साथ की गई कार्रवाई बताया है।
 
उन्होंने कहा कि चुनाव से पहले कांग्रेस कार्यकर्ताओं का मनोबल तोड़ने की नाकाम कोशिश करने के लिए बीजेपी ने एक बार फिर सरकारी एजेंसियों को दुरुपयोग किया गया है। केके मिश्रा ने कांग्रेस के मुखिया और कार्यकर्ताओं पर चुनाव के समय एक सियासी प्रहार बताया है। केके मिश्रा ने कहा कि आयकर विभाग को अगर कार्रवाई करनी है तो पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर करें।
 
वहीं बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने सीधे मुख्यमंत्री कमलनाथ पर हमला बोलते हुए कहा कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के निजी सचिव के घर से आयकर विभाग के छापे में करोड़ों की काली कमाई बरामद हुई, इससे एक बात तो साफ हो गई कि जो चोर है उसे ही चौकीदार से शिकायत है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख क्या वाराणसी से चुनाव लड़ेगी प्रियंका गांधी, राजीव शुक्ला ने दिया यह बड़ा बयान