Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

उपचुनाव में भीतरघात के बाद पूर्व मंत्री गौरीशंकर शेजवार समेत 3 नेताओं को कारण बताओ नोटिस

webdunia
webdunia

विकास सिंह

बुधवार, 4 नवंबर 2020 (18:08 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर मंगलवार को हुई वोटिंग में सत्तारूढ़ दल भाजपा को भीतरघात के चलते बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके साथ भाजपा में आए नेताओं के बाद पार्टी में जो अंसतोष की आग भीतर-भीतर सुलग रही थी उसकी आंच पार्टी को वोटिंग के दिन काफी महसूस हुई और अब उपचुनाव की वोटिंग के 24 घंटे के अंदर ही पार्टी ने अपने तीन बड़े नेताओं को कारण बताओ नोटिस थमा दिया। 
 
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने पूर्व मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार,उनके बेटे मुदित शेजवार एवं सुमावली के पूर्व विधायक गजराजसिंह सिकरवार को पार्टी प्रत्याशी के विरूद्ध एवं पार्टी विरोधी गतिविधियों की गंभीर शिकायत मिलने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
webdunia
पार्टी की ओर से तीनों नेताओं को जारी नोटिस में कहा गया हैं कि उपचुनाव में पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी के विरुद्ध आपके द्धारा निरंतर पार्टी विरोधी गतिविधियां की गई है जिससे पार्टी की छवि धूमिल हुई है और इसको अनुशासनहीनता बताया है। पार्टी ने तीनों नेताओं को नोटिस जारी कर सात दिन के अंदर स्पष्टीकरण भी मांगा है।
 
गौरतलब है कि सीनियर नेता गौरीशंकर शेजवार पिछले शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री थी और 2018 विधानसभा चुनाव में उनके बेटे मुदित शेजवार सांची विधानसभा सीट से उम्मीदवार रहे थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भाजपा में शामिल होने वाले और वर्तमान में शिवराज कैबिनेट में स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी उपचुनाव में सांची से भाजपा के उम्मीदवार थे। मंगलवार को उपचुनाव की वोटिंग से ठीक पहले गौरीशंकर शेजवार और मुदित शेजवार को लेकर कई तरह की अटकलें भी लगाई जा रही थी
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

ICC ODI रैंकिंग में विराट कोहली और रोहित शर्मा शीर्ष दो स्थान पर बरकरार