Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थक नेताओं का छलका दर्द, भितरघातियों के चलते हारे चुनाव, पार्टी करे कार्रवाई

सिंधिया के भोपाल दौरे के दौरान उपचुनाव हारे नेताओं में दिखी नाराजगी

webdunia
webdunia

विकास सिंह

गुरुवार, 19 नवंबर 2020 (20:18 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में उपचुनाव में हार का‌ सामना करने वाले सिंधिया समर्थक नेताओं ने अब खुलकर पार्टी के स्थानीय बड़े नेताओं पर चुनाव में भीतरघात करने का आरोप लगा दिया है। उपचुनाव में भाजपा की बड़ी जीत के बाद गुरुवार को सिंधिया जब पहली बार भोपाल आए तो उनके समर्थक नेताओं का गुस्सा फूट पड़ा।
 
उपचुनाव में मुरैना विधानसभा सीट से हार का‌ सामना करने वाले सिंधिया समर्थक रघुराज‌‌ कंसाना ने पार्टी के बड़े नेताओं पर चुनाव में भितरघात करने का आरोप लगा दिया। प्रदेश भाजपा कार्यालय पहुंचे रघुराज सिंह कंसाना ने कहा कि मुरैना में बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने तो काम किया मगर पार्टी के स्थानीय बड़े नेताओं ने चुनाव में धोखा दिया,जिसकी वजह से चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 
webdunia
मुरैना से भाजपा उम्मीदवार रहे रघुराज कंसाना ने बड़े नेताओं पर हमला बोलते हुए कहा उन्होंने चुनाव में भाजपा की पीठ में छुरा घोने का काम किया है। कंसाना ने कहा कि जिन नेताओं ने उन्हें चुनाव हराया है, उन सभी नेताओं के नाम पार्टी को मालूम है और उम्मीद करते हैं कि ऐसे नेताओं पर कार्रवाई की जाएगी। अगर ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो आने वाले समय में इसका खामियाजा पार्टी को भुगतना पड़ेगा।
webdunia
ग्वालियर पूर्व सीट से चुनाव हारे सिंधिया समर्थक मुन्नालाल गोयल ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ता वोटर को बाहर नहीं निकाल पाए,जिसकी वजह से उनको चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। मुन्नालाल गोयल ने कहा कि उन्होंने अपनी बात पार्टी वरिष्ठ नेताओं के सामने रख दी है। वहीं दिमनी से चुनाव हारे शिवराज सरकार में कृषि राज्यमंत्री गिर्राज दंडोतिया ने कहा कि वह चुनाव क्यों हारे इस बात को उन्होंने पार्टी फोरम पर रख दिया है।
 
वहीं अपने सर्मथक नेताओं के खुलकर भितरघात लगाने के आरोपों पर सिंधिया ने कहा कि इस पूरे मुद्दे पर पार्टी के अंदर चर्चा की जाएगी। वहीं दूसरी मुरैना से आने वाले सीनियर भाजपा नेता रुस्तम सिंह ने भितरघात के आरोपों को खारिज करते हुए रघुराज कंसाना को जितने वोट मिले है वह भाजपा की वजह से ही मिले है। 
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कम्प्यूटर बाबा 11 दिन बाद जेल से रिहा, चौथे प्रकरण में जमानत मिली, चेहरे पर दिखी घबराहट