मध्य प्रदेश में आफत की बारिश, भोपाल में लबालब भरा बड़ा तालाब, खुलेंगे भदभदा डेम के गेट

विशेष प्रतिनिधि

शुक्रवार, 9 अगस्त 2019 (10:26 IST)
भोपाल। मध्य प्रदेश में बारिश अब आफत की बारिश बन गई है। भोपाल सहित प्रदेश के कई जिलों में लगातार बारिश का दौर जारी है जिससे नदी नाले उफान पर आ गए हैं और लोगों को आवाजाही में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
 
भोपाल में रात भर हुई बारिश के चलते बड़ा तालाब पूरी तरह भर कर अपने पुल टैंक लेवल तक करीब पहुंच गया है। संभावना जताई जा रही है कि आज दिन में बड़े तालाब के फुल टैंक लेवल तक पहुंचने पर भदभदा डैम के गेट खोले जाएंगे।
 
डैम के गेट खोले जाने को लेकर नगर निगम के अधिकारियों ने मोर्चा संभाल लिया है। डैम से लगे निचले इलाकों को खाली कराया जा रहा है और फायर बिग्रेड और आपदा प्रबंधन से जुड़ी सभी एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है। वहीं भारी बारिश के चलके भोपाल की निचली बस्तियां और कई रिहायशी कॉलोनी में जलभराव हो गया है जिससे लोग परेशान है।
 
मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में सबसे अधिक बारिश शाजापुर जिले में दर्ज की गई है जहां 167 मिमी रिकॉर्ड बारिश दर्ज की गई है। वहीं रायसेन में 153.6 मिमी, भोपाल में 98.2 मिमी, उज्जैन में 89.0 मिमी इंदौर में 78.2 मिमी बारिश हुई है।

प्रदेश में हो रही लगातार बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। नर्मदा हो या फिर शिप्रा लगभग सभी नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। उज्जैन में लगातार 24 घंटे से हो बारिश के बाद शिप्रा नदी उफान पर है। तराना में पिछले 24 घंटे में 8 इंच बारिश दर्ज की गई है।
 
शिप्रा का लगातार जलस्तर बढ़ने से घाट किनारे बने मंदिर जलमग्न हो गए हैं। गंभीर डैम भी ओवरफ्लो हो गया। वहीं, कई इलाकों में एक से दो फीट तक पानी भर गया। इंदौर में रातभर हुई बारिश से यशवंत सागर तालाब लाबालब भर गया।
 
प्रदेश में इस समय से कई सिस्टम एक्टिव होने के चलते बारिश हो रही है। अगर बात करें इस मानसूनी सीजन की तो अब भोपाल में सीजन की सबसे अधिक बारिश रिकॉर्ड की है। वहीं मौसम विभाग के मुताबिक अगले 24 घंटे में भोपाल, रायसेन, राजगढ़, विदिशा, सीहोर सहित कई जिलों में अतिभारी बारिश से अत्यंत भारी बारिश होने की संभावना है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख साढ़े चार घंटे देरी से दिल्ली पहुंची समझौता एक्सप्रेस