बच्चा चोर की अफवाह से मॉब लिचिंग का खतरा, इंटेलिजेंस ने फेक मैसेज पर एसपी को दिए कार्रवाई के निर्देश

विकास सिंह

रविवार, 28 जुलाई 2019 (14:58 IST)
भोपाल। मध्यप्रदेश में सोशल मीडिया पर फेक मैसेज के जरिए लगातार फैल रही बच्चा चोरी गिरोह के सक्रिय होने की अफवाह से अब कानून व्यवस्था मुश्किल में पड़ने लगी है। सूबे में लगातार बच्चा चोरी के शक में निर्दोष लोगों को निशाना बनाया जा रहा है। इससे प्रदेश में मॉब लिचिंग का खतरा बढ़ता जा रहा है। 
 
ऐसा ही मामला रविवार को सागर जिले में सामने आया जहां बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने एक मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला की जमकर पिटाई कर दी। इतना ही नहीं, भीड़ महिला को पीटते हुए पुलिस थाने तक ले गई जहां पुलिस के दखल के बाद किसी तरह उसकी जान बचाई जा सकी।
 
इससे पहले शनिवार को सागर में लोगों ने बच्चा चोर गैंग के संदेह में भजन मंडली के 15 लोगों को घेर लिया था। इन्हें बाद में किसी तरह पुलिस के दखल के बाद किसी तरह सुरक्षित निकाला गया।
 
अफवाह रोकने के लिए अलर्ट : मध्यप्रदेश में सोशल मीडिया पर लगातार बच्चा चोर गिरोह के घुसने की अफवाह को रोकने के लिए अब खुफिया विभाग भी सक्रिय हो गया है। प्रदेश के इंटेलिजेंस चीफ कैलाश मकवाना ने एक अलर्ट जारी कर सूबे के सभी एसपी को ऐसे फेक मैसेज करने और फैलाने वालों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बच्चा चोरी गैंग, रोहिंग्या मुस्लिम के फेक मैसेज से भी सावधान रहने के निर्देश दिए हैं।
 
सोशल मीडिया पर लगातार बच्चा चोर गिरोह के घुसने की अफवाह से अब प्रदेश की कानून और सुरक्षा व्यवस्था भी प्रभावित हो रही है। वेबदुनिया पहले ही अपनी रिपोर्ट मे बता चुका है कि सोशल मीडिया के जरिए प्रचारित हो रहे बच्चा चोर गिरोह के मैसेज पूरी तरह गलत है और किसी भी तरह लोगों को इस तरह की अफवाह में नहीं पड़ना चाहिए।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख महबूबा मुफ्‍ती की चेतावनी, आर्टिकल 35 A से की छेड़छाड़ तो सारा जिस्म जलकर हो जाएगा खाक